भारतीय टेक्सटाइल की खरीदी में बांग्लादेश ने चीन को पछाड़ा

नई दिल्ली। बांग्लादेश ने पहली बार भारतीय रुई, यार्न और कपड़े की खरीदी में चीन को पीछे छोड़ दिया है। इस वर्ष के अप्रैल- सितम्बर क दौरान बांग्लादेश द्वारा भारत से किया जा रहा टेक्सटाइल्स का आयात 61.32 करोड़ डालर पर पहुंच गया था, जबकि चीन ने भारत से मात्र 41.61 करोड़ डालर का आयात किया था।  चीन की मांग सीमित रहने की धारणा से इन चीजों की चीन में निर्यात में उछाल आने की संभावना कम होने की जानकारी उद्योग के सूत्रों और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने दी।

2011-12 तक चीन की भारत से रूई और उससे निर्मित कपड़ों की खरीदी बांग्लादेश की तुलना में चार गुना थी लेकिन चीन में निर्यात का टेक्सटाइल में हिस्सा 19-26 प्रतिशत घटकर 10.50 प्रतिशत हो गया है। चीन सरकार ने वहां की मिलों को अपने पास से रुई के आरक्षित स्टॉक से बड़े पैमाने पर बिक्री करने तथा मजदूरी मंहगी होने से कपड़ा व वस्त्रों जैसी चीजों से चीन का पीछे हटने से भारत के निर्यात में गिरावट हुई। 

इसी बीच, बांग्लादेश कम उत्पादन खर्च, अर्धकुशल कामगारों की कमी, सरल कानून और मजबूत बाजारों में पसंदगी युक्त प्रवेश के कारण एशिया के टेक्सटाइल केंद्र के रूप में विकसित हो रहा है। अनेक भारतीय कंपनियों ने भी वहां फैक्टरियां लगायी है ।  

© 2017 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer