एकतरफा तेजी रुकी : गार्मेन्ट क्वा. के कपड़े में विंटर की सेम्पलिंग शुरू
लोअर परेल के केवल एस्टेट को `मिनी एमजे मार्केट' की उपाधि 

स्थानीय कपड़ा बाजार में जो एकतरफा तेजी थी उसमें सहज प्रतिक्रियात्मक गिरावट दिखाई दी है। गार्मेन्ट्स में भाव बिल्कुल बढ़ा नहीं है और प्रोसेस कपड़े में कुछ ही भाव बढ़ा होने से व्यापारी अब अति ऊंचे भाव पर ग्रे कपड़ा खरीदने से हिचकते है ।

इसके बावजूद, रुई का हाजिर भाव और वायदा भाव बढ़ने से काटन यार्न तेज है।  क्रृड तेल की तेजी के कारण पोलिएस्टर यार्न का भाव भी बढ़ गया है। कपड़े का सीजन चल रहा है। 

अब लग्नसरा गर्मी का सीजन, स्कूल यूनिफार्म का सीजन, तालपत्री, स्कृल बैग का सीजन होने से ग्रे कपड़े की मांग बढ़ेगी। भारतीय रुपया मजबूत हो जाने से निर्यात में पड़ता घटा है। 

सख्त गर्मी पड़ने से भिवंडी में पतरा के सेट के नीचे लूमों में काम करने वाले कारीगर थक जाते है, इससे भिवंडी में दोपहर 12 से 4 बजे तक लूमें बंद रखी जाती है । पहले अधिक गर्मी के कारण यार्न के तार टूट जाते थे, वे ड्रापइन लूम आ जाने से टूटते नहीं है । ज्यादा गर्मी कारण स्टार्च में फेरबदल करना पड़ता है।

गार्मेन्ट क्वालिटी के कपड़े में गिरावट

गार्मेन्ट के कपड़े में 15 मार्च से ग्राहकी शुरू हो गई है। इस समय सभी किस्मों की मांग है। मात्र जेकार्ड और बुट्टा जो पिछले दो सीजन में जोरदार चला था उसमें ग्राहकी नाममात्र है। 

नए विंटर सीजन की सेम्पलिंग शुरू हुई है। अच्छे ब्रांडों की तो सेम्पलिंग पूरी हो गई है। विंटर सीजन में पिंट अच्छा चलने की धारणा है। पीस डाइड भी चलेगा। यार्न डाइड में डाइड माल जैसे आक्सफर्ड, सेमरे, फिलाफिल की मांग चालू है। लेकिन ये सभी माल मिलों के ही बिकते  है । मिलों का भाव 125 से 127 है तथा पावरलूम के नार्मल मालों का भाव 110 से 112 रु. होता है। गार्मेन्ट के ब्रांड मिलों का ही माल पसंद करते है । 

मिलों में अरविंद, आशिमा, बीवीएम, एनएसएल का हल्का पिंट अच्छा चलता है। प्रिंट सबसे अच्छा अहमदाबाद के कांकरिया मिल का है और उसका भाव भी अन्य सभी मिलों की तुलना में ऊंचा है, उसके बाद बाम्बे रेयान का प्रिंट पसंद किया जाता है।

डेनिम भी अच्छा चलता है। विंटर में डेनिम पर अलग-अलग वॉश चलेगा। वाशिंग के उपरांत ब्लू और ब्लैक जैसे दो कलर चलेंगे। उसमें शर्टिंग्स-सूटिंग दोनों चलते हø। डेनिम वाशिंग की शर्टिंग कुछ मोटी होने से विंटर में अच्छी चलेगी। 

तीसरा आइटम निट्स चला। निट्स में इंडिगो सबसे अधिक चलेगा। फøसी निट्स में लुधियाना, कोलकाता, मुंबई और जनरल निट्स में तिरुपुर का बोलबाला है। वीव में जेकार्ड और फøसी वीव अधिक चलता है। 

पीस डाइड सूýटंग्स में ऊंची क्वालिटियां अच्छी चलने की धारणा है। इजिप्सियन बीजा 100 प्र. श. सूती कपड़े का प्रीमियम शर्टिंग्स रिटेल में अच्छा बिकता है। इसका नीचे में प्रति मीटर भाव 600 से 700 रु. और ऊंचे में 3000 रु. तक है।

 इसमें यार्न डाइड फैøसी सोबर चेक्स और स्ट्रक्चर वीव भी चलेगा। आफिस वेयर चेक्स की मांग रहेगी। प्रीमियम कपड़े में स्ट्राइप चलता है। 

प्रीमियम काटन शर्टिंग्स में 16 मीटर का ताका आता है, जिसे डीलर रिटेल स्टोरों कBाz सप्लाई करते है । 

यार्न डाइड शटेंग में स्ट्राइप बिल्कुल आउट है। कार्बन चेक्स विंटर में भाव से चलेगा। इसमें मिलों का काम नहीं है। 

किट्स गार्मेन्ट्स में प्रिटिंग के प्रोग्राम अच्छे है । इसमें 40/40 124/64 की मांग है। इस समय कपड़े की क्वालिटी में अरविंद मिल के समकक्ष में वर्धमान मिल आ गई है। 

कपड़े के सबसे अधिक उत्पादन में प्रथम नंबर पर अहमदाबाद का चीरीपाल- नंदन ग्रुप माना जाता है। उसका दैनिक 17 लाख मीटर का उत्पादन है और अभी एक नई इकाई स्थापित करने की योजना है।

मार्केटिंग एक्जी. अब अपने बिजनेस वेंचर में

मिलों के बिक्री अधिकारी अब नौकरी छोड़कर अपना बिजनेस उपक्रम शुरू कर रहे है । इससे मिलों में मार्केट का सम्पर्क रखने वाले बिक्री अधिकारियों की तंगी है। 

बाम्बे रेयान के चंद्रश देढ़िया, डोनियर के वीनीत तलवार, श्रीजी लाइफ स्टाइल के संदीप गाडिया इसी रास्ते पर गए है । 

मोरारजी मिल के भूतपूर्व प्रेसिडेंट प्रमोद गोटी और मफतलाल के भूतपूर्व प्रेसिडेंट प्रेम मलिक ने अपनी कन्सल्टिंग फर्म शुरू की है। 

मिनी एमजे मार्केट बना गया केवल इंडस्ट्रियल एस्टेट

लोअर परेल में 250 गाला वाले केवल इंडस्ट्रियल एस्टेट में कपड़े के बड़े थोक व्यापारी, सप्लायर्स और वीवर्स आ जाने से अब केवल को सभी मिनी एमजे क्लाथ मार्केट कहने लगे है । 

यहां 700 से 800 फुट के गाला है । ग्राउंड फ्लोर और फर्स्ट फ्लोर में गाला का मासिक भाड़ा ढ़ाई से तीन लाख और ऊपर के मालों में एक से डेढ़ लाख रु. है। ग्राउंड फ्लोर में गाला की कीमत 2 वर्ष पूर्व के ढ़ाई करोड़ रु. से बढ़कर अब छह करोड़ रु. हो गई है। ऊपर के महलों में गाला की कीमत डेढ़ से दो करोड़ रु. है।  इस एस्टेट के अग्रणी एजेन्ट अश्विन सेठ ने बताया कि 40 वर्ष पुराने केवल का आकर्षण पिछले तीन वर्ष से जमा है। दादर की गार्मेन्ट इकाइयों को यहां से कपड़े की सप्लाई करना सरल पड़ता है। 

उद्योग की हलचल

- न्यू पीस गुड्स बाजार कंपनी लि. (मूलजी जेठा क्लाथ मार्केट की स्वामित्व की कंपनी) ने 300 प्र. श. अंतरिम लाभांश की घोषणा की है। 

- देशबंधु कागजी की श्रीजी लाइफ स्टाइल और लिस्टेड कंपनी शिवा सूýटंग्स के डायरेक्टर पद से महेश ओझा ने त्यागपत्र दे दिया है और अब वे जिंदल क्रिएशन के प्रिंटिंग डिविजन के प्रमुख बने है । 

श्रीजी लाइफ स्टाइल के वाइस प्रेसिडेंट (मार्केटिंग) लक्ष्मीचंद्र लापसिया हट गए हø और अब वे फोरस्पीड निर्यात गृह से जुड़े है । इससे श्रीजी का संचालन अब ब्रिजेद्र कागजी (बंटी) ने संभाल लिया है।

- मिल ओनर्स एसो. (मुंबई) के सेक्रेटरी जनरल के रूप में वी. वाय. ताम्हाणे सेवा निवृत्त हुए है । अब टी बाबादास ने सेक्रेटरी के रूप में चार्ज संभाल लिया है।