सोना-चांदी, क्रूड आयल की वायदा कीमतों में वृद्धि
देश के अग्रणी कमोडिटी वायदा एक्सचेंज एमसीएक्स में गत 7 से 12 अप्रैल 2017 के दौरान हुए कुल कारोबार में 17,48,264 सौदों में 82,314.08 करोड रुपए का टर्नओवर दर्ज हुआ। कीमती धातुओं में सोना-चांदी में ऊछाल रहा जबकि सभी मेटल्स में गिरावट देखने मिली। एनर्जी में कच्चे तेल की वायदा कीमतों में वृद्धि रही जबकि नैचुरल गैस घटा। कृषि जिंसों में कोटन, सीपीओ, इलायची, मेंथा तेल, आरबीडी पामोलीन के अनुबंधों में नरमी दर्ज हुई। कोमडेक्स सप्ताह के दौरान 10.48 अंक घटा।

कीमती धातुओं में सोना जून वायदा प्रति 10 ग्राम 28,884 रु. खुलकर, सप्ताह के अंत में 508 रु. के ऊछाल के साथ 29,229 रु. बंद हुआ। यह वायदा आलोच्य अवधि के दौरान ऊपर में 29,297 रु. और नीचे में 28,621 रु. के स्तर पर पहुंचा था। सोने के सिक्के में अप्रैल वायदा प्रति 8 ग्राम 287 रु. बढ़कर 23,600 रु. हुआ जबकि गोल्ड-पेटल का अप्रैल वायदा प्रति 1 ग्राम 43 रु. सुधरकर 2,943 रु. रहा। सोना-मिनी का मई वायदा प्रति 10 ग्राम 492 रु. की वृद्धि के साथ 29,189 रु. के स्तर पर पहुंचा।

चांदी के वायदों में चांदी मई वायदा प्रति किलो 42,340 रु. खुलकर, ऊपर में 42,432 रु. व नीचे में 41,006 रु. के भाव रहे और सप्ताह के अंत में यह वायदा 109 रु. बढ़कर 42,202 रु. पर बंद हुआ। चांदी-मिनी अप्रैल वायदा 111 रु. और चांदी-माईक्रो अप्रैल 110 रु. बढ़कर क्रमश: 42,218 रु. और 42,219 रु. के स्तर पर बंद हुए।

मेटल्स में कॉपर अप्रैल डिलीवरी का वायदा प्रति किलो 16.90 रु. घटकर यह वायदा 363.75 रु. पर बंद रहा। निकल अप्रैल वायदा प्रति किलो 25.70 रु. घटकर 628.40 रु. हुआ। अल्युमीनियम अप्रैल वायदा प्रति किलो 3.40 रु. घटकर 122.35 रु. रहा, जबकि लेड अप्रैल वायदा प्रति किलो 3.10 रु. घटकर बंद में 145.45 प्रति किलो के भाव रहे। जिंक का अप्रैल वायदा सप्ताह के अंत में प्रति किलो 7.55 रु. घटकर 168.10 रु. पर बंद हुआ।

एनर्जी सेगमेंट में कच्चे तेल का अप्रैल वायदा सप्ताह के प्रारंभ में 3,364 रु. खूला और अंत में 93 रु. बढ़कर 3,444 रु. प्रति बैरल बंद हुआ जबकि नैचुरल गैस अप्रैल वायदा 8 रु. घटकर 206.70 रु. प्रति एमएमबीटीयू के स्तर पर पहुंचा।

कृषि जिंसों में कॉटन के अनुबंधों में 170 रु. से लेकर 350 रु. तक की गिरावट देखने मिली। कॉटन का अप्रैल वायदा 20,900 रु. खुलकर, ऊपर में 21,000 रु. और नीचे में 20,630 रु. के स्तर को छूकर अंत में 180 रु. घटकर 20,720 रु. प्रति गांठ बंद हुआ।