पीएम से रूबरू होंगे युवा उद्यमी

सभी मुद्दों पर 17 और 22 अगस्त को होगी चर्चा

हमारे संवाददाता

नई दिल्ली । देश में रोजगार के अवसर और आमदनी बढाने तथा कारोबार की प्रक्रिया आसान बनाने के उपायों पर चर्चा करने को लेकर प्रधानमंत्री श्री नरेद्र मोदी देश भर के लगभग डेढ सौ युवा उद्यमियों से सीधे तौर पर रुबरु होंगे।जिसके तहत पीएम इन उद्यमियों से न्यू इंडिया के निर्माण और 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के उपायों व सुझावों पर भी चर्चा करेंगे।

दरअसल नीति आयोग की तरफ से 17 और 22 अगस्त को प्रधानमंत्री श्री नरेद्र मोदी के साथ युवा उद्यमियों और स्टार्टअप्स की चर्चा आयोजित करने जा रहा है।यह पहला मौका होगा जब युवा उद्यमी इतने बड़े स्तर पर एक साथ प्रधानमंत्री से रुबरु होंगे।जिसक zतहत पीएम इस कार्यक्रम में तीन-तीन घंटे से अधिक समय तक रहेंगे।यह कार्यक्रम दो दिन चलेगा।हालांकि प्रधानमंत्री की उपलब्धता के तहत दो अल अलग तारीखों में आयाजन किया जा रहा है।जिसको लेकर नीति आयोग की तरफ से कहा जा रहा है कि युवा उद्यमियों के अलग अलग समूह बनाए है जो कि न्यू इंडिया,डिजिटल इंडिया,स्वास्थ्य और पोषण तथा पर्यटन जैसे विषयों पर मंथन कर अपना ज्ञापन पीएम के समक्ष प्रस्तुत करेंगे।इसके साथ ही वह देश की अर्थव्यवथा के विभिन्न क्षेत्रों की जरुरत के तहत कारोबार की प्रक्रिया सरल बनाने को लेकर मोदी सरकार को सुझाव भी देंगे।इस तरह से उद्योग जगत का फीडबैक सीधे प्रधानमंत्री तक पहुंचेगा।जिसको लेकर नीति आयोग की तरफ से पीएम के साथ युवा उद्यमियों की इस परिचर्चा को चैपियंस ऑफ चेंज नाम दिया गया है।जिसको लेकर नीति आयोग की तरफ से कहा गया है कि विकास को लेकर मोदी सरकार और निजी स्तर की भागीदारी का यह अब तक का सबसे बड़ी और अनूठी पहल है। इस परिचर्चा में जो भी सुझाव आएंगे मोदी सरकार उन पर अमल करेगी।इस कार्यक्रम का मकसद विकास की रफ्तार बढाने के साथ साथ रोजगार के अवसर सृजित करने और आम लोगों की आय का स्तर बढाने के उपायों पर भी मंथन होगा।जिसको लेकर नीति आयोग की तरफ से कहा गया है कि प्रधानमंत्री श्री नरेद्र मोदी के साथ सा वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली भी युवा उद्यमियों को संबोधित करेंगे।

© 2017 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer