भारतीय लग्जरी फैशन ब्रांड्स का विदेशी बाजार में बढ़ता दबदबा
रितु कुमार की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 5 स्टोर्स खोलने और वैश्विक स्तर पर साड़ी को लोकप्रिय बनाने की योजना

हमारे प्रतिनिधि

मुंबई। भारतीय फैशन न सिर्फ ग्लोबल रैप पर वाक कर रहा है बल्कि विश्वभर की फैशन राजधानियों के हाई स्ट्रीट में अपनी जगह बना रहा है। चाहे न्यूयार्क, लंदन, पेरिस या दुबई हो भारतीय डिजाइनर अंतरराष्ट्रीय फैशन राजधानियों में अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे है । ग्लोबल स्टोर्स नए फार्मेट है जिसके साथ वे प्रयोग कर रहे है ।

रितु कुमार, अनिता डोंग्रे, गौरांग शाह आदि जैसे फैशन डिजाइनर या तो अंतरराष्ट्रीय रिटेल क्षेत्र में प्रवेश कर रहे है या वहां अपनी उपस्थिति बढ़ा रहे है ।

डिजाइनर गौरांग शाह अपने आउटफिट को आनलाइन बेचना नहीं चाहते। क्योंकि पिक्चर कभी भी वास्तविक फील और गार्म़ेंट की फेब्रिक के साथ न्याय नहीं कर सकते। ग्लोबल स्टोर्स में प्रवेश करते हुए शाह अपने अंतरराष्ट्रीय विस्तार के लिए स्टाक सहित लगभग 10 करोड़ रु. का निवेश करेंगे। उसके वैश्विक स्टोर्स वैश्विक स्तर पर साड़ी को लोकप्रिय बनाने के भी इच्छुक हø।

न्यूजर्सी के एडिसन में शाप इन शाप फार्मेट में उनका प्रथम स्टोर इस महीने चालू होगा। शाह 1200 वर्गफीट के प्रिमाइस की तलाश में है जहां उनके कलेक्शन रेंज की कीमत 6 लाख रु. तक होगी।

हालांकि उनके क्रिएशन का पश्चिमीकरण नहीं होगा। देशी फेब्रिक एवं डिजाइन को लोकप्रिय बनाने का विचार है।

शाह ने कहा कि अभी भी उनका कलेक्शन हøडलूम प्रोडक्ट का होगा जिसके लिए वे जाने जाते है । विश्वभर में फैशन सप्ताह के दौरान भारतीय हøडलूम के फैशनिस्टा को पेश किया गया। अब माय स्टोर्स उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उपलब्ध कराएगा।

शाह का अन्य स्टोर्स इस नवंबर में लंदन के लेडबरी स्ट्रीट में खुलेगा तथा आगामी वर्ष की शुरुआत में दुबई में अगला स्टोर खुलेगा।

शाह की तरह अनिता डोंग्रे भी वैश्विक फैशन मोर्चे पर देशी शिल्पकारी को लोकप्रिय बनाना चाहती है। डोंग्रे न्यूयार्क में स्टोर्स रखने वाली पहली भारतीय डिजाइनर है ।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 5 स्टोर्स 3 मारीशस एवं 2 दुबई में रखेनवाला ब्रांड रितु कुमार एमिरेट्स में विस्तार करने की योजना बना रहा है। कुमार ने कहा कि हमारे लिए मध्य-पूर्व अति महत्वपूर्ण बाजार है। दुबई में हमारे दो ब्रांड रितु कुमार एवं लेबल रितु कुमार अच्छा प्रदर्शन कर रहे है । उनके अनुसार विश्व भारतीय टेक्सटाइल्स एवं फैशन के प्रति अति उत्सुक है।