खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में तीन वर्ष में पांच लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

हमारे संवाददाता

नई दिल्ली । मोदी सरकार के खाद्य एवं प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने 7 सितम्बर 2017 को कहा कि खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में अगले तीन वर्श में पांच लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।जिससे 20 लाख किसानों को भी फायदा होगा।उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की तरफ से शीघ्र खराब होने वाले खाद्य पदार्थ़ों को नष्ट होने से बचाने को लेकर अगले पांच वर्श में प्रसंस्करण खाद्य पदार्थ़ों का उत्पादन दोगुना करने का लक्ष्य है।

श्रीमति हरसिमरत कौर बादल ने उद्योग एवं व्यापार मंडल फिक्की की तरफ से आयोजित एक समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि इस समय मुश्किल से कुल कृषि उत्पाद के 10 प्रतिशत हिस्से का प्रसंस्करण हो पाता है।उन्होंने कहा कि खाद्य प्रसंस्करण से न सिर्फ कृषि उत्पादों को नष्ट होने से बचाया जा सकेगा बल्कि इससे किसानों की आय में भी भारी वृद्वि होगी।जिसको लेकर मोदी सरकार की तरफ से खाद्य प्रसंस्करण उद्योग का विस्तार करने को लेकर संपदा योजना शुरु कर गई है जिसको लेकर छह हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।उल्लेखनीय है कि नई फसल आने पर कीमत सामान्यत: बाजार में कम होती है।जिससे किसानों को अपने कृषि उपज का उचित मूल्य नहीं प्राप्त होता है जिससे उन्हें आर्थिक रुप से नुकसान होता है।वैसे तो मोदी सरकार की तरफ से फलों और सब्जियों को खराब होने से बचाने को लेकर 120 कोल्ड चेन की मंजूरी दी गई है।जिससे किसान अपनी फसलों का आसानी से इसमें रख सकेंगे और भाव ऊंचे होने पर बेच सकेंगे।

© 2017 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer