जीएसटी नेटवर्क के कामकाज से लाखों व्यापारी त्राहिमाम्

जीएसटी नेटवर्क के कामकाज से लाखों व्यापारी त्राहिमाम्
पोर्टल बारंबार हøग : सीएआईटी द्वारा रिटर्न भरने का समय बढ़ाने की मांग

व्यापार टीम

नई दिल्ली/मुंबई। देश के लाखों व्यापारी जुलाई महीने का रिटर्न नहीं भर सके हø क्योंकि जीएसटी नेटवर्क की क्षमता कम पड़ गई है। इसके कारण जीएसटी पोर्टल बारंबार हøग हो जाता है अथवा वेबसाइट क्रैश हो जाती है, जिससे देश भर के लाखों व्यापारी त्राहिमाम पुकारने लगे हø। कान्फीडरेशन आफ आफ इंडिया ट्रेडर्स, सूरत, राजकोट और अहमदाबाद के कपड़ा बाजार के संगठनों ने इस समस्या का तत्काल निराकरण लाने की मांग के साथ वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ बारंबार मीटिंग करने की मांग की है।

 सीएआईटी द्वारा वित्त मंत्री अरुण जेटली से रिटर्न भरने की समय सीमा कम से कम 15 सितंबर तक करने की मांग की गई है।

पोर्टल का टेक्नोलाजी आडिट कराकर सामान्य संचालन का भरोसा दिलाने का अनुरोध किया गया है। टेक्नोलाजी का स्तर निरंतर विफल होने पर जीएसटी सिर्फ व्यापारियों के लिए ही नहीं बल्कि सरकार के लिए भी खराब दु:स्वप्न के समान है, क्योंकि सरकार की अधिकांश आय पोर्टल के कामकाज की सफलता पर निर्भर है। जिससे उसने जेटली के साथ बारंबार मीटिंग करने का अनुरोध किया है। रिटर्न भरने का काम करने के लिए व्यापारियों को पूरा समय देना पड़ता है।

जीएसटीआर 1 रिटर्न भरने की साइट बारंबार क्रैश होने से सूरत के लाखों व्यापारी रिटर्न भरना चूक गए है । जिससे रिटर्न भरने की अवधि बढ़ानी पड़ी है। 

कांग्रेस इस अवसर का लाभ उठाकर विधानसभा के चुनाव में इस मुद्दे को उछालने की तैयारी कर रही है। पांडेसरा वीवर्स को-आपरेटिव एसो. के आशीष गुजराती ने कहा कि वीवर्स क्रेडिट रिफंड के मामले में परेशानी का अनुभव कर रहे है ।

© 2017 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer