आदित्य बिरला आनलाइन फैशन बिजनेस बंद करेगी

फ्लिप कार्ट और एमेजोन की स्पर्धा के समक्ष टिकने में असमर्थ
बंगलूर। 50 अरब डालर के कामकाज वाली आदित्य बिड़ला फैशन रिटेल धंधा 31 दिसम्बर से बंद कर देगी। फ्लिप कार्ट और एमेजोन जैसी प्रतिस्पर्धा वाली अधिक डिस्काउन्टिग माडल के समक्ष आदित्य बिड़ला ग्रुप टिक नहीं सकता।
2015 में फंड की कमी के कारण फैशनारा और आस्कमी बाजार जैसे कई प्लेयरों ने तब धंधा बंद कर दिया था।
फंड की कमी के कारण फ्लिप कार्ट ने भी स्टाफ कम किया और कॉस्ट घटाया। इसके बाद एमेजोन के समक्ष महत्वपूर्ण बाजार हिस्सा त्योहारों में मिलता था वह सज्ज हो गया। फिल्प कार्ट ने साफ्टबøड जैसे व्यूहात्मक निवेशकों से फ्रेस पूंजी भी प्राप्त की।
आदित्य बिड़ला की बंद होने वाली कंपनियों के 240 कर्मचारियों को साढ़े चार महीने का वेतन टुकड़े-टुकड़े देन का आश्वासन दिया गया था। कंपनी का प्राइवेट लेवल ब्राण्ड स्कल्ट जो है उसे ग्रुप के एपरल डिविजन मदुरा फैशन एण्ड लाइफस्टाइल में समाहित कर लिया जाएगा। भारत के अग्रणी ई-कामर्स प्लेयर्स फ्लिप कार्ट के फैशन आर्म- मिंत्रा ने चालू वित्तीय वर्ष के आखिर तक में मुनाफे में आने की आशा व्यक्त की है।
 बड़े ई-कामर्स प्लेयर्स फैशन पर अधिक ध्यान दे रहे है क्योंकि इसमें मुनाफा अधिक मिलता है। इससे अन्य कटेगरी में होता नुकसान कम किया जा सकता है। त्योहारी सीजन में 10.7 अरब डालर की बिक्री करने के लिए आनलाइन कंपनियां 40 करोड़ डालर खर्च करने वाली है । भारत की ई-कामर्स बिक्री इस वर्ष 60 प्र. श. बढ़ने की धारणा है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer