देशभर के किसान करेंगे 20 नवम्बर को नई दिल्ली में किसान संसद आयोजित

हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति की तरफ से देश भरके किसानों से आह्वाहन किया गया है कि नई दिल्ली में 20 नवम्बर 2017 को किसान संसद शुरु की जाएगी।जिस संसद में केद्र सरकार से स्वामी नाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के साथ एक बार में किसानों का कर्ज माफ करने की मांग भी की जाएगी।
इस बाबत जय किसान आंदोलन के संयोजक अविक शाह ने कहा कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति फिलहाल देश का सबसे बड़ा किसान समन्वय संगठन है जिसके साथ देश के 184 संगठन जुड़े हुए हø।ऐसे में हमने सरकारी आंकड़ों से यह तथ्य निकाला है कि सिर्फ खरीफ के इस मौसम में ही देश के किसानों का 16 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हो गया है।यह ऐसे हुआ हैकि केद्र सरकार ने किसानों को उनकी फसल पर जो एमएसपी देने का वादा किया गया था वह एमएसपी दी नहीं गई।ऐसे में जो एमएसपी तय की गई किसान को मंडी में उतनी कीमत भी नहीं मिली।जिसको लेकर पांच से दस मंडियों में किसानों को फसल की जो कीमत अदा की गई उसके आधार पर जो मॉडल प्राइस निकल कर आया है उससे यह दावा कर रहे है कि देश के किसान को सिर्फ एक मौसम में ही 16 हजार करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है।जिसके चलते देश के किसान को कर्ज का बोझ उठाना पड़ रहा है और वह खुदकुशी को लेकर भी मजबूर हो रहा है।ऐसे में यह संगठन केद्र सरकार से यह मांग करता है कि स्वामी नाथन आयोग की 50 प्रतिशत सिफारिशों को लागू किया जाए।जिससे किसानों के कर्ज को एक मुश्त माफ कर दिया जाए।इन्हीं मुद्दों को ध्यान में रखते हुए ही 20 नवम्बर 2017 से नई दिल्ली में होने वाली किसान संसद का आयोजन किया जा रहा है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer