खादी परिधानों को प्रदर्शित करने हेतु मॉडल करेंगी रøप वॉक

उ.  प्र. में खादी पर कार्यशाला आयोजित होगी नवम्बर के अंत में 
रमाकांत चौधरी 
नई दिल्ली । उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की तरफ से खादी परिधान को बढावा देने को लेकर उत्तर प्रदेश में पहली बार खादी पर एक कार्यशाला नवम्बर अंत में आयाजित किया जाएगा।जिसको लेकर खादी ग्रामोद्योग विभाग को नेशनल फैशन टेक्नोलॉजी इंस्टीटय़ूट (निफ्ट) की मदद मिलेगी।जिसमें देश की अग्रणी कम्पनियों के खादी परिधानों को प्रदर्शित करने को लेकर मॉडल रøप वॉक करेंगी। 
दरअसल मोदी सरकार की तरफ से देश में खादी व खादी परिधान को व्यापक रुप से बढावा दिया जा रहा है।जिसको लेकर अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की तरफ से खादी परिधानों को बढावा देने को लेकर प्रयासरत है।जिसके तहत चालू माह के अंत तक खादी ग्रामोद्योग विभाग के साथ निफ्ट की तरफ से लखनऊ में देश की नामी गिरामी कम्पनी एवं डिजाइनर के खादी परिधानों को प्रदर्शित करने को लेकर मशहूर मॉडल रøप वॉक करेंगीजिसमें ब्रांडेड कम्पनियों के खादी परिधानों के साथ खादी के आधुनिक परिधान सीधे तौर पर मुकाबले करते हुए नजर आएंगे।चूंकि आम लोगों को खादी के प्रति आकर्षण बढाने को लेकर इस कार्यक्रम का विशेष रुप से आयोजन किया जा रहा है।जिसको लेकर खादी ग्रामोद्योग आयोग के अधिकारियों की तरफ से कहा जा रहा है इस अभियान से बाजार में खादी की हिस्सेदारी व्यापक रुप से बढेगी।जिससे खादी व्यापार उद्योग जगत को व्यापक रुप से बढावा मिलेगा।जिससे खादी क्षेत्र में कार्यरत कारीगरों व मजदूरों को रोजगार के व्यापक अवसर प्राप्त हो सकेंगे।वैसे भी अब खादी नए जमाने के बदलाव के साथ साथ तेजी से अपने नए रंग,रुप,डिजाइन,पेटर्न में दिल रही है।ऐसे में खादी को और आधुनिक जामा पहनाए जाने को लेकर चालू माह के अंतिम सप्ताह में नेशनल फैशन टेक्नोलॉजी इंस्टीटृयूट) की मदद से खादी ग्रामोद्योग विभाग की तरफ से लखनऊ में एक कार्यशाला आयोजित करेगा।जिसमें फैशन के विशेषज्ञ समस्त उत्तर प्रदेश के खादी ग्रामाद्यवेग संस्थानों से संबंधित लोगों को समय और बाजर के अनुरुप खादी परिधान बनाने के बारे में बताए जाएंगे।इनमें से चुने हुए चुनिंदा लोगों को अल्पकालिक प्रशिक्षण को लेकर निफ्ट भेजा जाएगा।इस कार्यशाला और प्रशिक्षण के अनुभवों के आधार वर वह जो काम कर रहे हø निफ्ट उनकी लगातार निगरानी करेगा।ऐसे में जरुरत के अनुरुप उसमें सुधार का भी सुझाव देगा।जिसको लेकर आगे खादी को बढावा देने को लेकर नीतिगम कदम उठाए जाएंगे ताकि इस क्षेत्र का सही मायने में कायाकल्प हो सकेगा।जिससे खादी को घरेलू ही नहीं अपितु विश्व बाजार में डंका बजेगा जो कि आज अति आवश्यक भी है।

© 2017 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer