अरविंद का टेक्सटाइल्स बिजनेस थोड़े वर्ष में तो 10,000 करोड़ रु.का हो जाएगा

अरविंद का टेक्सटाइल्स बिजनेस थोड़े वर्ष में तो 10,000 करोड़ रु.का हो जाएगा
देश की प्रमुख डेनिम उत्पादक अरविंद लि. ब्रांडेड एपरल और इंजीनियरिंग बिजनेस को अलग कर अपने तेजी से विकासशील लाइफस्टाइल विभाग के मूल्य में वृद्धि करना चाहती है। अरविंद ग्रुप के डायरेक्टर कुलिन एस. लालभाई को विश्वास है कि कंपनी का टेक्सटाइल बिजनेस 5-6 वर्ष में 10,000 करोड़ रु. हो जाएगा। ऐसी जानकारी एक अखबार को दिए गए साक्षात्कार में उन्होंने दी। कंपनी 3-4 वर्ष में 1500 करोड़ रु. का निवेश करेगी। मार्ग़ेंट मैन्युफेक्चरिंग इकाई, एडवांस प्रोसेसिंग और टेक्नोलाजी आधारित नूतनता में निवेश कर टेक्सटाइल्स बिजनेस को रूपांतरित करेगी। भविष्य में आनलाइन बिजनेस के बिक्री में 20% योगदान देने की धारणा है।

उन्होंने कहा कि अरविंद के एपरल और इंजीनियरिंग बिजनेस को अलग करने से हम टेक्सटाइल्स बिजनेस पर ज्यादा ध्यान दे सकेंगे। कुछ वर्ष में अरविंद ने विभिन्न प्रकार के बिजनेस को बढ़ावा दिया है। दो वर्ष पहले अरविंद स्मार्ट स्पेसिस को अलग कर स्वतंत्र कंपनी बनाने के बाद उसमें 30% की दर से वृद्धि हुई है और बाजार पूंजीकरण अनेक गुना बढ़ा है। अरविंद फैशंस और अनूप इंजीनियरिंग अब स्वतंत्ररूप से आगे बढ़ेगी और वित्तीय स्वतंत्रता उनको इस कारोबार का संपूर्ण स्रोत विकसित करने में मदद करेगी।

इस वर्ष की दूसरी तिमाही में एक्सेप्शनल आइटम्स के बाद रिट्रेन्चमेंट कम्पेन्सेशन सहित शुद्ध लाभ वार्षिक 13.4% घटकर 62 करोड़ रु. हुआ। ब्याज, कर, अवपात और एमोर्टाइजेशन पूर्व की कंसोलिडेटेड आय 9% घटकर 212 करोड़ रु. हुई। इसका मुख्य कारण स्थानीय बाजार में आवक समक्ष की चुनौतियां थी और कपास का भाव बढ़ा था। जीएसटी के अमल के कारण हमारे स्थानीय टेक्सटाइल्स पर असर होने से दूसरी तिमाही चुनौतीपूर्ण रही। ब्रांड्स बिजनेस पर जुलाई में असर हुआ क्योंकि थोक और रिटेल श्रेणी दबाव में थी। आगे जीएसटी का ट्रांजिशन असर स्थिर होने और आय वृद्धि के बाद फिर सामान्य होने की धारणा है। इस वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी की आय 13% बढ़कर 2628 करोड़ रु. हुई।

उन्होंने आगे कहा कि 3-4 वर्ष में कंपनी 1500 करोड़ रु. का निवेश करेगी और टेक्सटाइल बिजनेस का ट्रांसफार्म करेगी। हमने आनलाइन बिजनेस पर ध्यान देकर बिक्री में 20%  की वृद्धि करने की योजना बनायी है साथ ही हम रिटेल स्टोर्स-अनलिमिटेड का विस्तार चालू रखेंगे। इस समय देश में 96 अनलिमिटेड स्टोर्स है । मार्च तक में और 14-15 स्टोर खोलने की योजना है।

कंपनी की विस्तार योजनाओं का आंतरिक स्रोतों से वित्तपोषण किया जाएगा।

थोड़े वर्ष में कंपनी ने 6-8 ब्रांड्स के साथ सहयोग किया है अन्य ब्रांड्स के साथ सहयोग करने की तुलना में इस समय कुछ वर्ष तक इस बिजनेस की वृद्धि पर ध्यान देने की योजना है। नूतनता के साथ एडवांस टेक्नोलाजी का संगम होने पर फैशन और ब्रांड्स का भावी बदलता रहता है। वह दिन दूर नहीं जब ग्राहकों को तीन डिग्री गर्म अथवा ठंडा रखने वाले फिटबिट अथवा वस्त्रों की अलग-अलग खरीदी करनी पड़ेगी। यह सब नूतनता प्रक्रिया के तहत है। अरविंद ने गैप, यूएस पोलो एसोसिएशन, नौटिका, ग्रेट केल्विन क्लेन और सेफोरा सहित के अंतरराष्ट्रीय ब्रांड्स के साथ सहयोग किया है।

© 2017 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer