पावरलूम बुनकरों को दी जाएगी वित्तीय मदद

पावरलूम बुनकरों को दी जाएगी वित्तीय मदद
काटन यार्न को एमईआईएस के तहत शामिल करने की जरूरत
हमारे प्रतिनिधि
मुंबई। सरकार ने पावरलूम बुनकरों के लिए प्रधानमंत्री क्रेडिट स्कीम के तहत 90 प्र.श. तक वित्तीय मदद की स्कीम पेश की है।
इस स्कीम के तहत सरकार परियोजना लागत का 20% तक मार्जिन मनी अनुदान प्रदान करेगी साथ ही अधिकतम 5 वर्ष के लिए 10 लाख रु. तक के लोन एवं कार्यशील पूंजी दोनों के लिए 6 प्र.श. वार्षिक ब्याज अनुदान प्रदान करेगी। पावरलूम क्षेत्र की टेक्सटाइल टेक्नोलाजी अपनाने में मदद करने के लिए साथी स्कीम पेश की गई है। इससे 25 लाख पावरलूम इकाइयों को फायदा होगा।
काटन टेक्सटाइल्स एक्सपोर्ट प्रमोशन काøसिल के चेयरमैन उज्ज्वल लाहोटी ने कहा कि पावरलूम उद्योग के लिए पेश की गई स्कीमों से वे न सिर्फ टेक्नोलाजी में सुधार कर सकेगी बल्कि सोलर पावर उपकरण भी लगा सकेगी।
मर्चंडाइज एक्सपोर्ट फ्राम इंडिया स्कीम (एमईआईएस) के तहत डय़ूटी क्रेडिट स्क्रिप्स की दर और आरओएसएल (स्कीम फार रिबेट आफ स्टेट लेविस) की दर मेडअप्स और गार्म़ेंट्स के लिए सरकार ने बढ़ाया है, उसका स्वागत है। अब एमईआईएस के तहत काटन यार्न को शामिल करना चाहिए और सूती कपड़े पर एमईआईएस दर 2% से बढ़ाकर 4% करनी चाहिए, ऐसी मांग काटन टेक्सटाइल्स एक्सपोर्ट प्रमोशन काøसिल (टेक्सप्रोसिल) के चेयरमैन उज्ज्वल लाहोटी ने की है।
एमईआईएस की डय़ूटी क्रेडिट स्क्रिप्ट के तहत की दर 2% से बढ़ाकर 4% की गई है। काटन मेडअप्स की आरओएसएल दर 1.55% से बढ़ाकर 2.20% की गई है। इन दोनों कदम से मेडअप्स के निर्यातक जो इस समय कठिनाई का सामना कर रहे हø, उनको भारी राहत होगी। मेडअप्स रोजगारोन्मुख क्षेत्र है और इस क्षेत्र को प्रोत्साहन देने से काटन टेक्सटाइल्स के संपूर्ण वैल्यू चेन को फायदा होगा।
उन्होंने आगे कहा कि टेक्सप्रोसिल ने एमईआईएस के तहत काटन यार्न का समावेश करने की और सूती कपड़े के एमईआईएस को 2% से बढ़ाकर 4% करने की मांग की है। उन्होंने उल्लेख किया कि मेडमेड फाइबर स्पन यार्न सहित के टेक्सटाइल वैल्यू चेन के हर अन्य विभाग को एमईआईएस लाभ मिलता है। इसमें किसी अज्ञात कारण से काटन यार्न का समावेश नहीं किया गया है।

© 2017 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer