दाल का बफर स्टाक : सिर्फ 11 राज्यों ने खरीदी में दिखाई रुचि

दाल का बफर स्टाक : सिर्फ 11 राज्यों ने खरीदी में दिखाई रुचि
हमारे संवाददाता  पिछले तीन वर्ष पहले अरहर की दाल की बढती कीमतों से निपटने को लेकर केद्र सरकार ने बफर स्टॉक बनाया था बहरहाल बारम्बार आग्रह के बावजूद राज्यों ने बफर स्टॉक से दालों की खरीद नहीं कर रहे हø।जिसके तजहत राज्य सरकारें प्राथमिक विद्यालयों में चलाई जा रही मिड डे मिल योजना को लेकर भी बफर स्टॉक से दालें नहीं खरीद रही है।ऐसे में अब केद्र सरकार सख्ती बरतने के मूड में आ गई है।  दरअसल केद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय की तरफ से सभी राज्यों को दाल खरीदने का आदेश जारी करने को लेकर 9 मार्च 2018 तक का समय दिया था।जिसके तहत सिर्फ 11 राज्यों और केद्र शासित प्रदेशों ने ही बफर स्टॉक से दाल खरीदने में रुचि दिखाई है और इसको लेकर राज्य संचालन एवं निगरानी समिति की बैठक बुलाई है।ऐसे में राज्यों के इस रवैये से निराश केद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय की तरफ से 6 मार्च को पत्र लिखकर शेष राज्यों से 9 मार्च तक राज्य संचालन एवं निगरानी समिति की बैठक बुलाने और दाल खरीदने की प्रक्रिया शुरु करने का निर्देश दिया था।जिसमें कहा गया था कि कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा शीघ्र ही इस फैसले के क्रियान्वयन की समीक्षा करने वाले हø।इससे पहले केद्रीय कैबिनेट ने पिछले वर्ष 10 नवम्बर को उन सभी योजनाओं में इस बफर स्टॉक से दाल का इस्तेमाल करने का फैसला किया था।जिसके माध्यम से पोषण प्रदान किया जाता है।इसमें महत्वाकांक्षी मिड डे मील योजना भी शािमल है।इसी कड़ी में केद्रीय मानव संसाधान मंत्रालय की तरफ से सबसे पहले 29 दिसम्बर 2017 को पत्र लिखकर राज्यों से उनकी दालों की जरुरत का ब्योरा 5 जनवरी 2018 तक देने को कहा था।जिसके तहत अधिकतर राज्यों से जवाब नहीं मिलने पर इस वर्ष 5 फरवरी को सकूली शिक्षा सचिव श्री अनिल स्वरुप ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर दाल खरीदने को कहा था।बहरहाल 5 मार्च 2018 को राज्यों के साथ हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में पता चला कि अब तक महत 11 राज्यों और केद्र शासित प्रदेशों ने ही इस पर फैसला किचा है।चूंकि राज्य सरकारों को परेशानी यह है कि बफर स्टॉक से मिलने वाली दाल साबूत है।जिसका इस्तेमाल करने को लेकर पहले मिलिंग करानी होगी।जबकि राज्यों के पास इतने बड़े पैमाने पर दालों की मिलिंग कराने की व्यवस्था नहीं है।वहीं दूसरी तरफ बाजार में कम कीमत पर दालों की उपलब्धता के चलते कोई भी इस भंडार से दाल नहीं खरीद रहा है और सीधे बाजार से मिलिंग की हुई दाल ला रहे हø।ऐसी स्थिति को देखते हुए केद्र सरकार की तरफ से बफर स्टॉक की दालों को खपाने को लेकर मिड डे मील के अतिरिक्त रक्षा और अर्धसैनिक बलों जैसे बीएसएफ और सीआरपीएफ की मेंस में भी इसकी आपूर्ति की जा रही है।इसके अतिरिक्त केद्र ने अन्य सरकारी एजेंसियों को भी बफर स्टॉक से दाल खरीदने की अपील की थी।   

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer