टेक्सटाइल व गार्म़ेंट को रिबेट स्कीम से मिला टॉनिक

टेक्सटाइल व गार्म़ेंट को रिबेट स्कीम से मिला टॉनिक
आरओएसएल की दर बढ़ाए जाने की गुजारिश
 
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । टेक्सटाइल एवं रेडीमेड गारमेंट इंडस्ट्रीज को लेकर रिबेट ऑफ स्टेट लेवीज स्कीम (आरओएसएल) ने टॉनिक की तरफ काम किया है।जिससे इस सेक्टर में निर्यात को बल मिला है।जिसको लेकर अपैरल एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (एईपीसी) ने केद्र सरकार से यह अनुरोध किया है कि टेक्सटाइल एवं रेडीमेड गारमेंट उद्योग जगत को राहत देने को लेकर आरओएसएल की दर बढाया जाए ताकि इस क्षेत्र में कारोबारी गतिविधियों को व्यापक बढावा मिल सकेगा।
दरअसल एईपासी प्रबंधक की तरफ से 2016 में रेडीमेड गारमेंट निर्यात को बढावा देने को लेकर जारी किए गए छह हजार करोड़ रुपए के विशेष पैकेज पर निर्यात की राय मांगी गई थी।जिसको लेकर टेक्सटाइल एवं रेडीमेड गारमेंट के निर्यातकों की तरफ से कहा गया है कि यह प्रोत्साहन पैकेज उनको लेकर किसी संजीवनी से कम नहीं रहा है।जिसको लेकर भारतीय निर्यातकों की तरफ से कहा गया है कि इस पैकेज के तहत चलाई जा रही आओएसएल स्कीम टेक्सटाइल और अपैरल निर्यात को लेकर मील का पत्थर साबित हो रही है।ऐसे में आतंरिक सर्वे में यह सामने आया है कि इस विशेष प्रोत्साहन पैकेज के चलते ही लगभग 2500 करोड़ रुपए का नया निवेश इस सेक्टर में आया है।वहीं इस पैकेज के लागू होने के बाद बारह महीने के तहत लगभग एक लाख नए रोजगार का भी सृजन हुआ है।चूंकि आरओएसएल को सितम्बर 2016 में लागू किया गया था। जिसके बाद रेडीमेड गारमेंट के निर्यात में 2.7 प्रतिशत का इजाफा हुआ।
टेक्सटाइल्स के संतुलित विकास के लिए समान सब्सिडी आवश्यक अहमदाबाद। टेक्सटाइल्स क्षेत्र के संतुलित विकास के लिए सब्सिडी दर एक समान रखने की मांग राज्य और केद्र के समक्ष हुई है। राज्यों में कैपिटल सब्सिडी नहीं दी जाती। लेकिन आन्ध्र प्रदेश में 20 प्रतिशत या अधिकतम 10 करोड़ सब्सिडी दी जाती है। इस असमानता के कारण गुजरात के उत्पादक पीछे रह जाते है।
कर्नाटक में भी अधिकतम 6 करोड़ रु. तक की सब्सिडी दी जा रही है। झारखंड-छत्तीसगढ में 50 लाख और तेलंगाना में 2.5 से 40 करोड़ तक सब्सिडी दी जाती है। वन नेशन वन टैक्स की तरह वन नेशन वन पालिसी की मांग समिट के दौरान की गई थी।
गुजरात जिनिंग और स्पिनिंग पर भी सिर्फ 5 प्रतिशत या 7.5 करोड़ की अधिकतम सब्सिडी पांच वर्ष के लिए दी जाती है। दूसरे राज्यों में स्थिति ज्यादा अच्छी है ऐसा गुजरात चेम्बर तथा मस्कती महाजन द्वारा बताया गया।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer