दो प्रतिशत वेतनवृद्धि को लेकर बैंक कर्मी आंदोलित : 30-31 मई को करेंगे राष्ट्रव्यापी हड़ताल


हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों के कर्मचारियों तथा अधिकारियों 30-31 मई 2018 को दो दिवसीय हड़ताल की घोषणा की है।इस हड़ताल का आह्वान भारतीय बैंक संघ (आईबीए) की की तरफ से वेतन में दो प्रतिशत की वृद्वि के विरोध में किया गया है।वेतन वृद्वि को लेकर 5 मई 2018 को हुई बैठक में आईबीए दो प्रतिशत वृद्वि की पेशकश की।इस बैठक में यह भी कहा गया है कि अधिकारियों की मांग पर बातचीत सिर्फ स्केल तीन के अधिकारियों तक सीमित होगी।
यूनाइटेड फोरम और बैंक यूनियंस के संयोजक देवीदास तुलजापुरकर ने कहा कि यह एनपीए के एवज में किए गए प्रावधान के कारण है ।जिससे बैंकों को नुकसान हुआ और इसको लेकर कोई बैंक कर्मचारी जिम्मेदार नहीं है।उन्होंने कहा कि पिछले दो-तीन वर्ष में बैंक कर्मचारियों ने जनधन,नोटबंदी,मुद्रा तथा अटल पेंशन योजना सहित सरकार की प्रमुख योजनाओं को लागू करने को लेकर दिन-राज काम किए।उन्होंने कहा कि इन सबसे उन पर काम का काफी बोझ बढा है।
उल्लेखनीय है कि बैंक कर्मचारियों के पिछली वेतन समीक्षा में 15 प्रतिशत की वृद्वि की गई थी।यह वेतन समीक्षा पहली नवम्बर 2012 से लेकर 31 अक्टूबर 2017 को लेकर था।यूएफबीयू,नौ श्रमिक संगठनों का निकाय है।इसमें ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कंफेडरेशन (एआईबीओसी), ऑल इंडिया बैंक एम्लाइज एसोसिएशन (एआईबीईए) तथा नेशनल आगेनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स (एनओबीडब्ल्यू) शामिल है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer