ग्रे कपड़े में नुकसान, बुनकर हैरान और परेशान


हमारे संवाददाता
कर्नाटक का नाटक 5 तारीख तक समाप्त नहीं हुआ। मुख्यमंत्री कुमारस्वामी का कहना कितना महत्वपूर्ण है कि कर्नाटक सरकार कांग्रेस की ओर से चल रही है और अभी तक मंत्री मंडल तय नहीं हो पाया। कुर्सी का मोह तो है, लोग कहते हैं  कांग्रेस ने त्याग किया है। जबकि हकीकत सब को मालूम है जिस कांग्रेस को राहुल डुबोने में लगे हैं। अगर ओ अध्यक्ष पद का त्याग कर दे तो कुछ त्याग हो सकता। वर्तमान में असंभव संभव हो रहा है। बढ़ती गर्मी के बाद मानसून पहले मुंबई में बरसात हुई। मालेगांव में बढ़ती गर्मी के बाद तापमान तो कम हुआ और उमस बढ़ी है। बदली छाई रहती है, लेकिन बरसात का अता-पता नहीं है। आशा तो है बरसात शीघ्र आनी चाहिए। पावरलूम इण्डस्ट्रीज में भी अनिश्चितता का समय चल रहा है। कपड़ा में पड़ता नहीं होने से रोटो और केम्ब्रिक पहले से ही खराब है। अब सूती धागे की तेजी के लपेटे में पापलीन भी आ रही है। पी.सी. भी ठीकठाक है। बाजार में गरज से जो कपड़ा बिक रहा है। वो केश पेमेन्ट के चलते कम में बिक रहा है। मास्टर विवर मदन शर्मा (श्रीराम टेक्सटाइल) ने बताया कि व्यापार के साथ सरकार की व्यवस्थाएं भी समझ के बाहर हो रही है। पड़ता होना-नहीं होना, व्यापार नहीं हो रहा है, यह बड़ी समस्या है। मेन सीजन फेल जा रहा है। हर मंडी में व्यापार सीमित मात्रा में हो रहा है। मालेगांव में कच्चे-हल्के बुनकर पहले से बाहर हो गये हैं। अब अगर बाजार में सुधार नहीं आया तो और कम हो जायेंगे।
पापलीन और कैम्ब्रिक : सूती कपड़ा बाजार में सूती धागे की तेजी ज्यादा चर्चा में है। बुनकर कपड़ा देखते रहे और सूती धागे में लम्बी तेजी आ गई। हालांकि अब बुनकर काम चलाने पुरता ही ले रहे हैं, अर्थात ऊंचे भावों में लम्बा काम नहीं हो रहा। यही समस्या कपड़े में है, भाव अपनी जगह व्यापार नहीं हो रहा है। दलाल कहते आज कहते हैं  बिकता नहीं, कल खरीदी आई तो कहते हैं पड़ता नहीं है। ज्यादा तो नहीं सूती धागे की तेजी में रेडी माल में थोड़ा सुधार हो सकता है।
रोटो और पी.सी. : रोटो की राम कहानी लम्बे समय से खराब हो रही है। रोटो की इकतरफा तेजी के साथ कपड़ा नहीं बिकना बड़ी विकट समस्या बनी हुई है। ज्यादातर बुनकर रमजान ईद की छुट्टी 16/6 के बाद एक सप्ताह तो लूम बंद रहेंगे ही। लेकिन उसके आगे क्या करना, सोच रहे हैं। पी.सी. का कपड़े में ही हल्की गिरावट है। दलाल राजेश पारीख ने बताया कि फिलहाल पी.सी. ही बचा है। 
बाकी कपड़े में नहीं बचता। अब एक सप्ताह बाद व्यापार नहीं के बराबर होगा। तब तक देखो और इन्तजार करो वाली स्थिति रहेगी।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer