खादी परिधान : सभी वर्ग़ों में आकर्षण बढ़ा

खादी परिधान : सभी वर्ग़ों में आकर्षण बढ़ा

हमारे संवाददाता
नई दिल्ली-आमतौर पर ग्रीष्मकालीन मौसम में खादी परिधान में आकर्षक लुक झलकता है।जिसको लेकर आजकल चाहे पुरुष हो या महिलाएं अथवा युवक व या युवतियां अथवा छोटे बच्चे हों या छोटी बच्चियां सभी वर्ग़ों में खादी परिधान पहनने की विशेष ललक बन गई है।ऐसे में स्वभाविक है कि ग्रीष्मकालीन मौसम में खादी परिधान की अपेक्षाकृत बिक्री में बढोतरी हो गई है।जिससे खादी व्यापार उद्योग के समक्ष सकारात्मक रुख बन रखा है।
दरअसल आजकल ग्रीष्मकालीन मौसम में पुरुष को लेकर खादी कपड़े से निर्मित पैंट-शर्ट सहित कुर्त्ता-पायजामा में विशेष रुचि है।जिसको लेकर खादी क्षेत्र के उद्यमियों की तरफ से आज के आधुनिक युग के अनुरुप पुरुषों को लेकर स्टाइलिश खादी परिधानों को निर्मित किया जा रहा है जिसमें नए रंग,रुप,डिजाइन पेटर्न से सराबोर किया जा रहा है ताकि खादी कपड़े की अधिकाधिक बिक्री निर्मित की जा सकेगी।ऐसे में इस समय खादी कपड़े से निर्मित पुरुषों के परिधान में सर्वाधिक कारोबार निर्मित हो रहा है और आगे कारोबार का दायरा बढने की उम्मीद बनी हई है।वहीं आजकल ग्रीष्मकालीन मौसम को लेकर युवतियों में खादी कपड़े से निर्मित स्पेगेटी टॉप,डेनिम से लेकर शॉट ड्रेस तक न सिर्फ आरामदायक है बल्कि नया और स्मार्ट लुक प्रदान कर रहा है।वहीं ग्रीष्मकालीन मौसम को लेकर महिलाओं में खादी कपड़ें से निर्मित हाथ से बनी साड़ी बेहतर आकर्षण प्रदान कर रही है और यह विभिन्न रंगों व फैशनेबल स्टालिए हुए हुई है जो कि भारतीय महिलाओं को विशेष रुप से भा भी रही है।इसके साथ ही अलग दिखने को लेकर स्टाइलिश नजर आने को लेकर खादी की स्पेगेटी टॉप को स्कर्ट ढीले ढाले पट साथ पहनी जा रही है जो कि एक अलग ही लुक प्रदान करता है।जबकि खादी के क्रॉप टॉप को हल्के घेरादार स्कर्ट के साथ पहनने पर आकर्षण निखरता है जो कि आजकल बेहद प्रचलन में है।ग्रीष्मकालीन मौसम में खादी के कुर्त्ते और शॉर्ट पहनना काफी आरामदायक होता है।जिसमें गले पर बढिया कढाई वाली कुर्ती पनने की आजकल विशेष ललक है।वैसे भी आजकल चटख रंग के खादी के स्कॉर्फ या दुपट्टे को प्लेन ड्रेस के साथ पहनने का रिवाज बढ गया है।जबकि दुपटे को हल्के रंग की कुर्ती के ऊपर पहनने से अलग लुक निखरता है।
ऐसे में आजकल आमतौर पर ग्रीष्मकालीन मौसम में खादी के शॉर्ट पट या श्रग विशेष प्रचलन में है।इसके साथ ही श्रग के ऊपर खादी के शॉर्ट पहनने से स्मार्ट लुक उभरता है।वैसे भी आजकल स्टाइल और सहजता को देखते हुए डेनिम से बेहतर खादी हो रखा है।जिसके तहत डेनिम खादी पट को ऑफ शॉल्डर या कोल्ड शॉल्डर टॉप को पहनने का रिवाज बढ गया है।जिसमें युवतियां की दिलचस्पी तेजी से बढ गई है।वहीं आजकल महिलाओं को लेकर खादी कपड़े से निर्मित साड़ियों को पहनने में आरामदायक होती है।ऐसे में आज के मॉडर्न लुक को लेकर महिलाओं को जरदोजी की कढाई और ब्लॉक प्रिंट वाली खादी की साड़ी में विशेष आकर्षण होती है।हालांकि आज की आधुनिक महिलाओं को रंगीन प्लेन खादी साड़ी को कढाईदार शर्ट ब्लॉऊज के साथ पहनने का रिवाज हो लिया है जो कि एकदम से नया लुक प्रदान करता है।वहीं छोटे बच्चों को लेकर खादी का कपड़ा सर्वोत्तम होता है।जिसके तहत साधारण प्रिंट वाले ड्रेस और विभिन्न डिजाइनों वाले कट प्लेअर्ड खादी के टॉप ॅलड़कियों को लेकर काफी बेहतर है।जबकि लड़कों को लेकर हाथ से निर्मित खादी के शर्ट और पैंट में विशेष रुझान है।ऐसें मे ग्रीष्मकालीनप मौसम में छोटे लड़के या लड़कियों को लेकर खादी पहनना विशेष रुप से आरामदायम है और इस वर्ग में खादी की तरफ ललक तेजी से बढ रही है। 

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer