कोलकाता की एस. एम. टेक्सटाइल्स ने लगाया 1.46 करोड़ का सूरत के व्यापारी को चूना

कोलकाता की एस. एम. टेक्सटाइल्स ने लगाया 1.46 करोड़ का सूरत के व्यापारी को चूना
 
सूरत। स्थानीय आर्ट सिल्क कपड़ा मार्केटों में आये दिन पार्टियों के उठने व पलायन करने की वारदातें घटित होती रहती है, गत पखवाड़े में करीब 5 से 6 करोड़ रु. की राशि का कपड़ा खरीद कुछ चीटर व्यापारियों के रफ्फूचक्कर होने की खबर की स्यायी सुकी ही नहीं थी कि ताजा वारदात में कोलकाता के एस. एम. टेक्सटाइल्स नामक फर्म ने सूरत के कपड़ा व्यापारियों के साथ लगभग 1.46 करोड़ की धोखाधड़ी कर डाली है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार कोलकाता के कुछ चीटरों ने वर्ष 2017 में मात्र 20 दिनों की अवधि में 1.46 करोड़ का एक व्यापार हिम्मतभाई से कपड़ा खरीद कर 6 चेक दिए, लेकिन खाते में पर्याप्त बेलेंस न होने से उपरोक्त चेक बैंक से रिटर्न हो गए, सूत्रों के अनुसार मोटा वराछा स्थित अंजनी रो हाउस निवासी हिम्मतभाई खिमाभाई खोयाणी की वराछा मिनी बाजार के समीप एस. वाय. इंटरनेशनल नामक कपड़े की फर्म है। कपड़े के ट्रेडिंग कारोबार से जुड़ा यह व्यापारी देश के विभिन्न राज्यों की अलग-अलग मंडियों में सेम्पल के आधार पर कपड़े की बुकिंग करता है, तथा 30 दिन की उधारी के आधार पर अपना कपड़े बेचता था, बताया जाता हैं कि गत दिनों हिम्मतभाई कोलकाता गए हुए थे तो तब वहां उनकी पहचान मुकेश उर्फ मुन्ना चोवटिया से हुई।
मुकेश ने वहां के अन्य व्यापारियों से भी परिचय कराया, जिसमे दीपेश नरोत्तम नरसाड़ा भी एक थे। नरोत्तम ने प्रारम्भ प्रारम्भ में अपनी गुडविल जमाने के उद्देश्य से हिम्मतभाई से थोड़ा-थोड़ा कपड़ा खरीदा व उसका भुगतान फास्ट किया, लेकिन इस व्यापारी ने अपना असली दांव खेला गत वर्ष 28 जनवरी 2017 से 18 फरवरी 17 की अवधि में दीपेश, मुकेश व प्रतीक नामके तीन व्यापारियों ने हिम्मत भाई का विश्वास जीत कर लगभग 1.46 करोड़ का कपड़े की विभिन्न किस्मों का ऑर्डर दिया।
जिसे हिम्मतभाई ने अच्छे व्यापारी समझ ऑर्डर मुताबिक कपड़े की पार्सले कोलकाता भिजवा दी, लेकिन उधार दिए गए कपड़े की मुद्दत पूरी हुई तो हिम्मतभाई तकादा किया, लेकिन पेमेंट की टालमटोल होती रही। अंतत: ज्यादा तकादा होने से कोलकाता के इन चीटर व्यापारियों ने बकाया राशि के कुल 6 चेक हिम्मतभाई को अदा किए, लेकिन बिना किसी बेलेंस से चेक देने का हश्र यह हुआ कि तमाम चेक रिटर्न हो गए। हिम्मतभाई ने जब रिटर्न चेकों के पेमेंट का तकादा किया तो वो टालमटोल करते रहे और अंत में कह दिया कि पेमेंट हमारे पास नही है। अत: आपको जो करना है वो कर डालो, आखिर हिम्मतभाई ने परेशान हो कर दीपेश नरोत्तम नरसाड़ा, मुकेश उर्फ मुन्ना चेवटिया व अन्य सम्मिलित व्यक्तियों  के खिलाफ सूरत के पुलिस कमिश्नर के समक्ष शिकायत की, इस शिकायत के पश्चात मंगलवार की रात्रि को पुलिस ने कोलकाता के व्यापारी दीपेश नरसाड़ा (शाह) के खिलाफ शिकायत दर्ज की, इस शिकायत के आधार पर शहर की अपराध शाखा ने इस मामले को हाथ में लिया, और आरोपी के खिलाफ क्राइम ब्रांच ने धोखा-धड़ी की शिकायत दर्ज कर करवाई प्रारम्भ कर दी। बताया जाता है कि क्राइम ब्रांच में इस तरह की धोखा-धड़ी का मामला दर्ज हुआ है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer