अमेरिका-चीन के बीच ट्रेडवार रुई-सूत का निर्यात बढ़ा

अमेरिका-चीन के बीच ट्रेडवार रुई-सूत का निर्यात बढ़ा

हमारे प्रतिनिधि
मुंबई। विदेशों की बढ़ती मांग और रुपए की नरमी से काटन यार्न (सूत) का भाव पिछले दो सप्ताह में 10 प्र. श. से अधिक बढ़ा है।
चीन ने हाल ही में अमेरिका से आयात होती रुई पर 25 प्र. श. ड्यूटी लगा दी है। अब चीन अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए भारत से रुई का अधिक आयात करने वाला है।
40 काउंट के काटन यार्न का प्रति किलो भाव 240 रु. है जो इस महीने के प्रारंभ में प्रति किलो 215 से 218 रु. था। इस अवधि में रुपए की कीमत लगभग 1 प्र. श. घटी है। फिलहाल डालर के मुकाबले 68 रु. है। जो इस महीने के प्रारंभ में 67.41 रु. था। पिछले कुछ महीने में रुपए की कीमत लगभग 5 प्र. श. तक घटी है। 
फिलहाल आफ सीजन होने से सुस्त वातावरण का समय है लेकिन रुई-सूत का भाव लगातार बढ़ते जाने से स्पिनर सक्रिय हो गए हø। चीन और बांग्लादेश की मांग भारतीय काटन यार्न में बढ़ी है।  यूएस पर टेरिफ बढ़ाने के बाद चीन ने भारत से 5 लाख गांठ (170 किलो की एक गांठ) रुई के आयात का करार किया है। नियमित निर्यात के अलावा यह नया आर्डर है। चीन में रुई की वार्षिक खपत 450 लाख गांठ की है जबकि उसका उत्पादन 320 लाख गांठ का है। गत वर्ष भारत से 10 लाख गांठ चीन में निर्यात किया गया था। 
इस सितंबर में समाप्त होते काटन सीजन में भारतीय रुई का निर्यात 21 प्र. श. बढ़कर 70 लाख गांठ होने की संभावना है जो पिछले वर्ष 58 लाख गांठ का निर्यात हुआ था।
रुई शंकर-6 का जून में अभी तक 6.5 प्र. श. भाव बढ़ा है। एक महीना पहले प्रति क्वि. भाव जो 12373 रु. था वह बढ़कर 13160 रु. हो गया है जो 12 प्र. श. की वृद्धि दर्शाता है।
रुई की कुल बोआई में 1.5 प्र.श. की मामूली वृद्धि
नई दिल्ली। देश में रुई की बोआई खरीफ मौसम में संभावित आंकड़े के अनुसार 1.5 प्र.श. बढ़ी है। कर्नाटक स्थित कृषि विज्ञान केद्र के अधिकारी अशोक पी. के अनुसार शीघ्र बारिश होने से ज्यादातर किसान बोआई करने जुटे हø। गुजरात में विगत वर्ष की तुलना में कपास की खेती घटकर 66 प्र.श. (470900 एकड़) होने से देश की कुल बोआई में मामूली वृद्धि होगी।
पंजाब में भी पानी की तंगी से बोआई 25 प्र.श. घटकर 2,85,000 हैक्टर दर्ज की गई है। जानकारों के अनुसार विगत वर्ष भी पानी की तंगी से कपास की फसल घटी थी जो चालू वर्ष में भी 5 प्र.श. तक घट सकती है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer