इस वर्ष नहीं बिकेगी एयर इंडिया : अब मुहैया कराया जाएगा ऑपरेशनल फंड

इस वर्ष नहीं बिकेगी एयर इंडिया : अब मुहैया कराया जाएगा ऑपरेशनल फंड
 
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया के 76 प्रतिशत स्टेक की बिक्री की सरकारी कोशिश विफल होने के बाद अब केद्र सरकार ने इससे अपना मन बदल लिया है।जिसको लेकर केद्र की श्री नरेद्र मोदी सरकार ने तय किया है कि इस वर्ष इसे नहीं बेचा जाएगा और इस महाराजा के नाम से पहचानी जाने वाली एयर इंडिया के संचालन को लेकर ऑपरेशनल फंड मुहैया कराई जाएगी।
दरअसल केद्र सरकार ने पूर्व में एयर इंडिया की 76 प्रतिशत हिस्सेदारी कर्ज चुकाने व अन्य उद्देश्यों को लेकर बेचने का निर्णय लिया था।बहरहाल घाटे में चल रही एयर इाडिया में हिस्सेदारी खरीदने किसी ने बोली नहीं लगाई।ऐसे में केद्र सरकार को आगे का फैसला लेना था।जिसको लेकर केद्रीय मंत्री श्री अरुण जेटली ने 18 मार्च 2018 को केद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल,उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु,परिवहन मंत्री नितिन गडकरी व अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे जिसमें अब एयर इंडिया की हिस्सेदारी नहीं बेचने का निर्णय लिया गया।जिसको लेकर एक वरिष्ठ अधिकारी की तरफ से कहा गया है कि एयर इंडिया का ऑपरेशन मुनाफा दे रहा है कोई फ्लाइट खाली नहीं जाती सभी तरह के खर्च सुव्यवस्थित है।ऐसे में इसकी हिस्सेदारी बेचने की अब जरुरत नहीं है।अब केद्र सरकार इस कंपनी की शेयर बाजार में लिस्टिंग कराने से पहले यह प्रयास करेगी कि यह मुनाफे में आ जाए।जिसको लेकर भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड के तहत किसी कंपनी को शेयर बाजार में सूचीबद्व कराने को लेकर अंतिम तीन वर्ष में उसे मुनाफ में दिखाना होगा।जिसको लेकर कंपनी के अधिकारी आगाकी दिनों में इसके ऑपरेशन को मजबूत बनाने का प्रयास करते दिखेंगे।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer