पेट्रोल-डीजल का जीएसटी के तहत चरणबद्ध ढंग से होगा समावेश

पेट्रोल-डीजल का जीएसटी के तहत चरणबद्ध ढंग से होगा समावेश
टेक्नोलाजी के कारण हम पिछड़े : हसमुख अढिया
नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल जैसे पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के तहत लाने पर जीएसटी काøसिल विचार कर रही है और यह प्रक्रिया चरणबद्ध ढंग से होगी, वित्त सचिव हसमुख अढिया ने उक्त बात कही।
सेन्ट्रल बोर्ड आफ इन्डाइरेक्ट टेक्सेस एंड कस्टम्स के चेयरमैन एस. रमेश ने कहा कि पेट्रो- प्रोडक्ट को जीएसटी के तहत लाना चाहते है । जीएसटी काøसिल उस पर विचार कर रही है।
इस समय डीजल, पेट्रोल, क्रूड तेल, नेचुरल गैस और एटीएफ से बाहर है जिससे राज्यों को जीएसटी इन सभी चीजों पर वेट लगाने का अधिकार है। अढिया ने कहा कि अन्य बहुत सी मांगे हø जिस पर हमें विचार करना है और अमल चरणबद्ध ढंग से होगा।
वित्त सचिव हसमुख अढिया ने कहा कि जीएसटी की सरल प्रक्रिया में टेक्नोलाजी बाधक है। एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि जीएसटी, जीएसटीएन में जो लोग टेक्निकल सपोर्ट दे रहे है । वे श्रेष्ठ कामकाज कर रहे है । इसके बावजूद जीएसटीएन कई बार विफल हो जाता है कुछ समय सीमा होने से हमें उतावली में प्रक्रिया करनी पड़ी। कहीं हमने उल्लेख किया है कि टेक्नोलाजी से हम हारे है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि जीएसटीएन में काम करने वाले कर्मचारियों ने हमें हराया है। जीएसटीएन में श्रेष्ठ व्यक्ति है और उनके प्रयासों के बावजूद जीएसटीएन में हम पीछे रहे है ।
कुछ टेक्निकल खामिया पूरा करने की जरूरत है लेकिन जीएसटी के अमल से देश काफी आगे आया।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer