समर्थन मूल्य बढ़ने से कपास की बोआई बढ़ने की धारणा

समर्थन मूल्य बढ़ने से कपास की बोआई बढ़ने की धारणा
इब्राहिम पटेल  
मुंबई। 2017-18 में रुई (कॉटन) के भाव ऊपर रहने से अगस्त से शुरू होती नई वैश्विक मौसम में बोआई बढ़ने की संभावना है। ज्यादा कॉटन सप्लाय, भाव को नीचे की ओर जाने का दबाव सर्जित कर सकता है। भारत और अमेरिका में कोटन किसानों के लिए नई सपोर्ट प्राइस पॉलीसी के चलते इंटरनेशनल कॉटन एडवाईज़री कमिटी का अनुमान है कि यह दोनों देशों में बोआई बढ़ेगी। 2018-19 की मौसम में अमेरिका में बोआई 11 प्रतिशत बढ़कर 50.8 लाख हेक्टेयर तक पहुंचेगी। भारत में कॉटन के समर्थन भाव 28 प्रतिशत बढ़ने के साथ अच्छे मॉनसून का पूर्वानुमान और किसानों को अब तक मिले ऊंचे भाव से प्रोत्साहित होकर 2017-18 की मौसम में बुवाई 8 से 9 प्रतिशत बढ़कर 109 लाख हेक्टेयर रहने का अनुमान है। 
भारत सरकार ने मीडियम स्टेपल कॉटन के समर्थन भाव प्रति क्विंटल 4020 रुपए से बढ़ाकर 5150 रुपए और लांग स्टेपल के 4320 रुपए से बढ़ाकर 5450 रुपए किए है।      

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer