कमोडिटी के भाव पर अल्गोरिधमिक ट्रेडिंग का प्रभाव

हमारे संवाददाता
कमोडिटी व्यापार में हमारे निर्णयों को सुधारने के साथ हमारा मुनाफा किस तरह बढ़े उसके लिए हम मशीन लर्निंग की ओर प्रयाण करने के लिए योजना बना रहे है, ऐसा मुंबई स्थित एक कमोडिटी हाउस के ट्रेडर कम स्पेकुलेटर ने कहा था। व्यापार में मानवीय मगज की महत्वपूर्ण भूमिका है, लेकिन अब हम लंबे समय तक अकेले मानवीय मगज पर ही निर्भर रहने की स्थिति में नहीं है। मौसम की खबर, कार्गो की मूवमैंट, राजनीतिक निर्णयों जैसी खबर के घोडापुर आते है, तब उसका व्यापक अर्थघटन करने में विफल रहने वाले कमोडिटी ट्रेडरों की मति असमंजस में है और मुनाफा दबाव में आता है।
डेटा और व्यापक प्रतिस्पर्धा करने वाली टेक्नोलाजी के संयोग ने बाजार में लिए जाते उत्तम निर्णयों में भूमिका निभाना शुरू कर दिया है। वायदा बाजार में व्यापार करने के लिए समझ प्राप्त करने के लिए मानवीय मगज ने हमेशा व्यापक भूमिका निभाई है। लेकिन अब अकेले मानवी के मगज पर आधार रखकर सौदे करने के दिन नहीं रहे, ऐसा उन्होंने कहा था। बराबर इसी ही समय कम्प्यूटर मोडेलो और अल्गोरिधमिक प्रोग्राम ने कमोडिटी वायदा बाजार के भाव पर व्यापक प्रभाव डालना शुरू किया है, लेकिन हेजिंग पोजिशन लेना अधिक मुश्किल बन गया है। हम यह भी देख रहे है कि अल्गोरिधमिक आधारित सौदे की मात्रा बढ़ने के साथ फंडामेंटल्स और बाजार भाव के बीच का तादात्म्य बढ़ते दर से असमतोल होने लगा है।
बेशक, कम्प्यूटर अभी भी अपने आप ट्रेडिंग निर्णयों को लेने में मुश्किल महसूस करता है और डेटा की पैटर्न खोजने में भी संघर्ष करना पड़ता है। आज भी ऐसे ट्रेडरों को थोड़ी माहिती देनी पड़ती है, कहां पर नजर रखनी है उसके लिए मार्गदर्शन करना पड़ता है और उसके बाद आपको कौन सी रूचि वाली माहिती उपलब्ध होती है। कंई कमोडिटी एक्जिक्यूटिवों का कहना है कि लगातार बढ़ रहे डिजिटाईजेशन के मार्फत व्यापार का संचालन बढ़ा है और उसको अपनी पहुंच में रखने की आवश्यकता भी बढ़ गई है। ट्रेडिंग हाउस के प्रोफिट एंड लोस अकाउंट डेस्क संभालने वाले अधिकारी, डेटा को काफी ही खानगी रखना शुरू किया है, वह अपने साथी कर्मचारी को भी उसकी खबर होने नहीं देते। डेटा अपनी पहुंच में रखने की पूरी संस्कृति ही बदल गई है।
बेशक, हाल में जहां भी डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर स्थापित किया गया है वहां भी कमोडिटी व्यापार में आर्टिफिशियल इंटेलिजन्स (एआई) का व्यापक उपयोग होने में अभी काफी समय लगने वाला है। भाव में बड़ी ऊछलकूद होती है तब कमोडिटी ट्रेडरों को आज भी मुनाफा हांसिल करने के लिए अपनी इंफोर्मेशन का सहारा लेता है। सालों तक फिजिकल (हाजिर के) व्यापार में प्रतिभागी व्यापारियों के पास इकठ्ठी हुई सालों पुरानी माहिती के ढंग को कम्प्यूटर में फिडिंग करने से उनकी प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी, ऐसी आशा आज कंई वायदा व्यापारी रख रहे हैं।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer