सूत का भाव बढ़ने से कपड़ा कारोबार प्रभावित

सूत का भाव बढ़ने से कपड़ा कारोबार प्रभावित

मालेगांव में साइजिंग को बंद की नोटिस
 
हमारे संवाददाता
बरसात का मौसम खास तौर से मुंबई-नागपुर और गुजरात में हुई अतिवृषा सब भुगत चुके है । ये कई सालों से हो रहा है। 5 घंटे में 5 इंच बरसात में कोई शासन और प्रशासन भी क्या करेगा। रही बात गढे की तो यह राजनीति के भेट चढ़ जाता है। बरसात में पावरलूम और प्रोसेस, डाइंग, प्रिन्टिंग में भी मंदा रहता है और जब पहले से मंदा चल रहा है तो, ये कोई नई बात नहीं है। कपड़ा बाजार में पीसी को छोड़कर सबका हाल-बेहाल है। मालेगांव के साथ भिवंडी, इचलकरंजी के भी यही हाल है। कोढ से खुजली वाली बात है। कपड़ा चलता नहीं और सूत बढ़ते जाता है। अब वीवर को मुसीबतों से डटकर मुकाबला करना है। नोटबंदी और जीएसटी के बाद अब ई-वे बिल चर्चा में है। कुल मिलाकर उत्पादन, ट्रेडर्स, प्रोसेसर्स में कहीं सुकुन और चेन नहीं है। कपास, यार्न, कपड़ा, कच्चा (ग्रे) और पक्का, रिटेल काउन्टर में सब एक चेन में चलता है और सभी जगह परेशानी का आलम है। फिलहाल आगे क्या होगा, ये कोई नहीं जानता। जानकार लोग कहते है कि सूत की तेजी से कपड़े में सुधार हो जायेगा। लेकिन कपड़ा जब तक अपने बल बूते पर नहीं चलता, तब तक सभी को आशा और इंतजार रहेगा। पापलीन में कोई सुधार नहीं है। केम्ब्रिक में में 56x52 निचले स्तर से थोड़ी ठीक है। रोटो तो खराब ही था। अब सिर्फ पीसी ठीकठाक है। कई बुनकर पीसी में आये तो इसका भी यही हाल हो सकता है। सूती धागा फिर से तेज है। पीसी भी टाइट है और रोटो अपना मुकाम बनाये हुए है।
पापलीन और केम्ब्रिक :- कपड़े में पड़ता नहीं होना तथा लेवाली भी नहीं होने से और मुश्किल होता जा रहा है। जो बाजार भाव से बेच लेता, वो ही बेच सकता है। यार्न के भाव और कपड़े को देखते रहने वाले देखते ही रह गये। अब बाजार मंदी के जाल में फस चुका है। स्टाक भी कोई कितने दिन रख सकता है। युवा आढ़तिया मुकेश (जयलक्ष्मी) वालों ने बताया कि पावरलूम सेक्टर की हालात खराब ही है। फिलहाल कुछ सुधरता नहीं लग रहा है। केम्ब्रिक में भी पड़ता नहीं होने तथा व्यापार कमजोर होने से सूती कपड़ा मुश्किलों में है।
रोटो और पीसी :- सूती के सामने रोटो और ज्यादा लंबे से खराब है। यार्न की एकतरफा तेजी से और ज्यादा खराब हो गया है। फिलहाल पीसी में व्यापार ठीक है। कई वीवर पीसी में आये है, आ रहे है और आने की सोच रहे है। पीसी में रेडी और आवक दोनों बिक रहा है। सप्ताह भर में 10 से 15 पैसा ठीक भी हुआ है। 70x58 में व्यापार और भाव भी ठीक है।
फिलहाल प्रदूषण का मामला चर्चा में है। फिलहाल एनजीटी पूना (पश्चिम) तथा पोल्यूशन कंट्रोल डिपार्टमेंट नाशिक की टीम मालेगांवा में साइजिंग का सर्वे कर रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मालेगांव की 128 यूनिट है और उसमें 24 साइजिंग की बंद की नोटिस जारी की गई है। सर्वे अभी जारी है, कुछ साइजिंग को कारण बताओ नोटिस जारी की गई है। मालेगांव के दयाना क्षेत्र में नये पावरलूम और साइजिंग बढ़ रही है और ज्यादा बंद की नोटिस इस क्षेत्र में है।
मार्केट में चर्चा है कि कुछ लोग दिन में साइजिंग बंद रखकर रात में चला रहे है एक साइजिंग मालिक ने बताया कि ये ज्यादा दिन चलने वाला नहीं है। एनजीटी में कार्यवाही के बाद शायद ही कोई बचेगा।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer