सूत बाजार में फिर नई तेजी का संचार

सूत बाजार में फिर नई तेजी का संचार
हमारे संवाददाता
पावरलूम मंडियों में कपड़ा नहीं बिकने और पड़ता नहीं होने से मंदी और मुश्किलों का समय गुजर रहा है। कपड़ा नहीं चले यहां तक तो समझ में नहीं आये या आये। लेकिन सूती, पीसी का यार्न एकतरफा तेजी में चल रहा है। रोटो का यार्न काफी समय से काफी ऊंचा ही चल रहा है। इसलिए पावरलूम क्षेत्र खराब हालात से गुजर रहा है। पिछले दिनों सूती धागा 4 से 6 रु. किलो घटा था। अब फिर से बढ़ना शुरू हो गया है। बाजार में कोई यार्न बिकने के बाद वापस ऊंचा ही बोला जाता है। सूत और कपड़े में काम करने वाले मुतालिब भाई ने बताया कि मिलों में एक्सपोर्ट हो रहा है। 34 बाने की शार्टेज है। इसलिए इसमें और भाव बढ़ सकते है। कुछ समय पहले गुजरात की मिलें कुछ कम में दे रही थी। अब सब भाव बढ़ाकर बोल रहे है। फिलहाल सूती धागे में मंदी रहने के बजाय कुछ भाव बढ़ सकते है, ऐसा लग रहा है। पीसी का यार्न सप्ताह भर में बढ़ा है तथा रोटो तो पहले से ही तेज है। अब कपड़ा में पड़ता है या नहीं, बिकता है या नहीं, सूती धागा को इससे कोई लेना देना नहीं है। सूती धागा तेज था, तेज और तेज रह सकता है। विवर यार्न में लगभग खाली सा है। रेडीमेड में रोज बाजार भाव से व्यापार हो रहा है। यह हालात सूती, पीसी और रोटो का एक साथ है। अब अंदाज और उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आ रहा है। ये अलग बात है कि मालेगांव में बरसात का मौसम बना हुआ है, लेकिन पानी नहीं आ रहा है।
सूती धागा :- सूती धागे में एकतरफा तेजी से तथा नये रेंज में आने के बाद यही लग रहा था कि बाजार में अब मंदी तो नहीं है। दो सप्ताह पहले हल्की गिरावट से पुराने भाव पक्के हो गये और बुधवार शाम से बाजार में बढ़े भावों के संकेत आने लगे। फिलहाल मिल वाले यहां से ऊंचे चल रहे है, बाजार में कम भाव का माल, प्राफिट बुकिंग से रोकड़ा पेमेन्ट में कम मिल जाता है। बाकी सभी काउन्ट में भाव बढ़े है। 34 बाने में शार्टेज बनी हुई है और इसमें कुछ ज्यादा बढ़ सकता है।
पीसी और रोटो :- पीसी का वार्प और वेफ्ट में 100% पोलिएस्टर में सप्ताह भर में 2 से 3 रुपया किलो की तेजी बनी हुई है तथा व्यापार भी हो रहा है। 80 रोटो तीन सप्ताह से लगभग एक सा चल रहा है। रोटो और जीरों में 3 रुपया किलो का फरक बना हुआ है।
कुंकाने (मालेगांव) स्थित गौशाला में ज्यादातर तांबाकांटा का युवा व्यापारी वर्ग सूत और कपड़ा व्यापारी एवं दलाल जुड़े हुए है। 15 जुलाई को सम्पन्न वार्षिक स्नेह सम्मेलन में लगभग 700 लोगों की उपस्थिति रही। इसमें प्रमुख अतिथि डा. श्री सुभाष जी भामरे (केद्रीय रक्षा राज्य मंत्री) और मा. दादा भाऊ भूसे (ग्रामीण विकास राज्य मंत्री-महाराष्ट्र सरकार) थे। इस सीजन में लगभग 1100 पेड़ पौधे लगाये गये। सुन्दर कांड का पाठ तथा वन भोजन का सुन्दर व सफल कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस कार्यक्रम के आयोजन में राजू सराफ, ब्रिजमोहन बाहेती, राजू वडेरा, भरत चौधरी, पूरन मरदा, शेखर अग्रवाल, नरेश मारे, ब्रिजमोहन शुक्ला (पत्रकार) राजेश मालपानी, महेद्र मोदी, मुकन्द करवा, सीताराम पारीख प्रमुख रहे। सुन्दर कांड पाठ, विश्वनाथ सराफ, दिनदयाल मारे, माहेश्री महिला मंडल और नारायण रेटी मंडल का विशेष सहयोग रहा। करंजावहाण से कुंकाने तक रोड निर्मिती की बात दादा भाऊ भूसे (मंत्री महोदय) ने की।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer