चीनी मिलें किसानों को सौ प्रतिशत भुगतान की मानसिकता के साथ काम करें

चीनी मिलें किसानों को सौ प्रतिशत भुगतान की मानसिकता के साथ काम करें
किसानों के गन्ना बकाया भुगतान हेतु चीनी मिलों के साथ बैठक
हमारे संवाददाता
मेरठ । उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से किसानों के गन्ना बकाया भुगतान को लेकर चीनी मिलों के प्रबंधकों के साथ एक समीक्षा बैठक की गई।जिसमें उत्तर प्रदेश के गन्ना मंत्री श्री सुरेश राणा ने किसानों के गन्ना मूल्य भुगतान में लेटलतीफी पर चीनी मिल प्रबंधकों को कड़ी फटकार लगाई।उन्होंने स्पष्ट कहा कि चीनी मिलों को जल्द से जल्द किसानों को उनके गन्ना बकाया के शत प्रतिशत निपटान कर देना चाहिए।   
उन्होंने चीनी मिलों से कहा कि उन्हें चीनी बेचकर पूरा पैसा किसानों को देना चाहिए।बिजली उत्पादन का चीनी मिलों को जो भुगतान उत्तर प्रदेश सरकार ने प्राथमिकता से कराया है वह समस्त पैसा किसानों के भुगतान के लिए जारी करें।ऐसे में दोनों में से किसी भी राशि का इस्तेमाल अन्य किसी कार्य में नहीं होना चाहिए।गन्ना किसानों के बकाया को लेकर चीनी मिलों के साथ समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि चीनी मिलों को सरकार द्वारा निर्धारित कोटे के तहत प्रत्येक महीने चीनी की बिक्री सुनिश्चित करनी होगी ताकि किसानों को भुगतान समय पर किया जा सकेगा।उन्होंने स्पष्ट कहा कि चीनी मिलों नए चीनी सत्र में किसानों का समय से शत प्रतिशत भुगतान करने की मानसिकता से काम करना चाहिए।
इस मौके पर चीनी मिल प्रबंधकों ने चीनी बिक्री का कोटा बढाने की मांग की।बिजली बिक्री से मिलने वाले पैसे को कई चीनी मिलों ने किसानों को भुगतान नहीं करके अन्य खातों में पहुंचा दिया था।जिस पर गन्ना मंत्री श्री राणा ने चीनी मिलों के प्रबंधकों को कड़ी फटकार लगाई।
इस समीक्षा बैठक के बाद गन्ना मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री किसानों के बकाये को लेकर चिंतित हø।किसानों के बकाये का समय से भुगतना उनकी प्राथमिकता है।उन्होंने कहा कि पूर्व में उत्तर प्रदेश में गन्ना भुगतान की व्यवस्था काफी बिगड़ी हुई थी।जिसे उत्तर प्रदेश सरकार ने 16 महीनों के कार्यकाल में काफी सुधार लाया है।
नए चीनी सत्र में उत्तर प्रदेश में गन्ने का क्षेत्रफल 10 प्रतिशत बढा है।देश में 38 प्रतिशत गन्ना उत्पादन उत्तर प्रदेश में होगा।इसकी पेराई सुनिश्चित करने को लेकर सरकार गंभीर है और योजना बनाई जा रही है।इस वर्ष उत्तर प्रदेश में 111 करोड़ क्विंटल गन्ने की पेराई करके 120 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer