साड़ियों की मांग थोड़ी शिथिल

गंगापुरसिटी । मिलों में सियाराम, रेमंड, ग्रासिम, एस. कुमार्स, केडिनो बाई, मयूर, बीएसएल, संगम, डोनियर आदि के मालों में सीमित पूछपरख बनी हुई है। भीलवाड़ा की मुरारका, गुडविल, बीडी के मालों में छिटपुट मांग है।
शर्टिंग में ग्राहकी कमजोर रही। `बूंदी' स्थित `मैसर्स रामजी स्टोर' के संचालक शुभम गोयल के अनुसार सूटिंग-शर्टिंग समेत सभी परिधानों में ग्राहकी ठंडी है। नवरात्र पर्व से ग्राहकी की हलचल शुरू हो जाएगी। जिसमें अनवरत सुधार होने की धारणा है। स्कूल यूनिफार्म कपड़े में ग्राहकी ठंडी पड़ गई है। आगे फेस्टिवल व वैवाहिक सीजन के लिहाज से मिलों के ब्रांडेड सूटिंग-शर्टिंग एवं कोम्बो पैकिंग में पूछपरख बनी हुई है।
साड़ी :- साड़ियों की मांग कमजोर है और व्यापारी अपने पुराने स्टाक को ही क्लीयर करने का प्रयास कर रहे है। यहां बाजार में अभी तक कोई नया कॉन्सेप्ट नहीं आया है। सिर्फ प्लेन बार्डर चल रहा है। प्रिंटेड साड़ियों की 500-1500 रुपए रेंज में छिटपुट ग्राहकी बनी हुई है। लहंगा-चुन्नी, लांचा एवं वेडिंग साड़ियों में अभी कोई पूछपरख नहीं है और नया माल भी नहीं आ रहा है।
रेडीमेड-गार्म़ेंट :- रेडीमेड-गार्म़ेंट मालों में ग्राहकी नगण्ैय है। व्यापारी नंदकिशोर गुप्ता एवं पंकज गुप्ता के अनुसार शर्ट-टी शर्ट, लेडीज सूट, नाइटी गाउन कुर्ती, लेगिंग्स, जैगिंग्स एवं बच्चों के गार्म़ेंट मालों में मामूली पूछपरख बनी हुई है।
रेडीमेड के मालों की अनेक स्टोर्स पर सेल लगी हुई है। सूट एवं ड्रेस में सीमित मांग बनी हुई है। लेडीज टॉप, कुर्ती एवं प्लाजो सेट की मांग है। कोटी वाली कुर्ती एवं प्लाजो सेट में मीडियम रेंज में पूछपरख बनी हुई है। वहीं उपभोक्ताओं का स्मार्ट लुक के प्रति विशेष रुझान बना हुआ है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer