विपणन वर्ष में अब तक चावल खरीद 3.8 करोड़ टन के पार

चावल खरीद 3.75 करोड़ टन का लक्ष्य निर्धारित
हमारे संवाददाता
केद्र सरकार की तरफ से चालू विपणन वर्ष 2017-18 में अब तक चावल खरीद 3.870 करोड़ टन को पार पहुंच गई है जो कि निर्धारित लक्ष्य से अपेक्षाकृत अधिक है।बहरहाल अगले विपणन वर्ष को लेकर चावल खरीद 3.75 करोड़ टन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
दरअसल केद्र सरकार की तरफ से बीते विपणन वर्ष 2016-17 (अक्टूबर-सितम्बर) के तहत धान की खरीद 3.43 करोड़ टन की गई थी जो कि चालू विपणन वर्ष 2017-18 को लेकर 3.3 करोड़ टन के निर्धारित लक्ष्य से अधिक रही।यद्यपि अब चावल खरीद का कार्य इस महीने में समाप्ति की ओर बढ रहा है।जिसके तहत अब तक चावल खरीदी 3.8 करोड़ टन की गई है जो कि इस वर्ष के निर्धारित लक्ष्य से अधिक खरीदी की गई है।जिसके तहत पंजाब,हरियाणा,उत्तर प्रदेश, छतीसगढ, उड़ीसा,आन्ध्र प्रदेश,पश्चिम बंगाल से अधिकांशत: चावल की खरीदी की गई है।जिसके तहत इस बार देश के कुल चावल उत्पादन का 33 प्रतिशत से अधिक चावल की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर की गई है।उल्लेखनीय है कि धान को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीदी की जाती है।जिसको लेकर राज्य सरकारों द्वारा संचालित फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एफसीआई) और राज्य सरकार की अन्य एजेंसियें ने धान खरीद को लेकर अभियान चलाया था।यद्यपि केद्र सरकार ने चालू वर्ष को लेकर सामान्य गेड किस्म के धान का एमएसपी 1550 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया है।जबकि ए ग्रेड किस्म के धान का एमएसपी 1590 रुपए प्रति क्विंzटल निर्धारित किया गया है।हालांकि सरकारी आंकड़ों के तहत देश में पिछले वर्ष के 10 करोड़ 97 लाख टन की तुलना में 2017-18 में 11 करोड़ 29 लाख टन चावल का रिकॉर्ड उत्पादन किया है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer