गार्म़ेंट क्षेत्र के आरओएसएल दावों का निपटारा करने की मांग

चेन्नई। भारत के सबसे बड़े निटवेयर/रेडीमेड गार्म़ेंट कलस्टर तिरुपुर के तिरुपुर एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन (टीईए) ने केद्रीय टेक्सटाइल्स मंत्री स्मृति ईरानी ने रिबेट आन स्टेट लेवी (आरओएसएल) दावों का शीघ्र निपटारा करने की अपील की है, जो महीनों से लम्बित है।
टीईए के अध्यक्ष राजा एम. षण्मुधम ने कहा कि पिछले तीन महीने से इस क्षेत्र के आरओएसएल दावों का निपटारा नहीं किया गया है। जीएसटी में शामिल न किए गए पेट्रो उत्पादों पर कर मंडी शुल्क और बिजली के करों की क्षतिपूर्ति करने के लिए आरओएसएल दावा दिया जाता है।
उन्होंने आगे कहा कि जीएसटी लागू होने के बाद एक वर्ष से अधिक समय की गिरावट के पकाात इस वर्ष अक्टूबर में गार्म़ेंट निर्यात में सकारात्मक रुख दिखायी दिया। तिरुपुर को उम्मीद है कि यह रुख आगामी महीनों में भी जारी रहेगा।
उनके अनुसार सिर्फ तिरुपुर निटवेयर कलस्टर का ही 105 करोड़ रु. का पेंडिंग आरओएसएल है।
उन्होंने कहा लम्बित दावों के निपटारा से ऐसे समय प्लांटों को मदद मिलेगी जब वे मामूली मार्जिन पर कार्यरत है तथा वैश्विक बाजार में टिके रहने के लिए संघर्ष कर रही है। इससे ऐसे देशों से स्पर्धा करने में मदद मिलेगी जिन्हें यूएस और ईयू बाजारों में शुल्क मुक्त दर्जा मिला है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer