कंपनियों को विदेश में डायरेक्ट लिस्टिंग की अनुमति संभव

समिति के सुझाव पर सेबी ने 24 दिसम्बर तक जनता से मांगी राय'
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) की एक समिति ने 4 दिसम्बर 2018 को सलाह दी है कि भारतीय कंपनियों को विदेशी शेयर बाजारों में और विदेशी कंपनियों को भारतीय शेयर बाजारों में डायरेक्ट लिस्टिंग की अनुमति दी जाए।जिसको लेकर अभी भारतीय कंपनियां डिपॉजिटरी रिसीप्ट के माध्यम से विदेशी बाजारों में सूचीबद्व हो सकती है और विदेशी कंपनियां भी इंडियन डिपॉजिटरी रिसीप्ट के माध्ये से भारतीय बाजारों में सूचीबद्व हो सकती है।
समिति ने भारतीय कंपनियों को उन्हीं देशों के बाजारों में सूचीबद्व होने की अनुमति देने का सुझाव दिया है जिनके साथ किसी जांच की स्थिति में सूचना के आदान प्रदान को लेकर भारत के साथ समझौता है।जिसको लेकर सेबी ने समिति की सिफारिशों पर 24 दिसम्बर 2018 तक आम जनता से राय मांगी है।उल्लेखनीय है कि इस नौ सदस्यीय विशेषज्ञ समिति का गठन जून में किया गया था।वैसे तो विदेशी बाजारों में सूचीबद्व् होने की सुविधा से भारतीय कंपनियों को कम लागत पर विदेशी पूंजी मिल सकेगी।जिससे भारतीय अर्थव्यवस्था को भी लाभ मिलेगा।ऐसे में कंपनियां इसको लेकर लंबे अर्से से मांग करती रही है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer