कपड़ा क्षेत्र कृषि के बाद देश में दूसरा सबसे बड़ा नियोक्ता

कपड़ा क्षेत्र कृषि के बाद देश में दूसरा सबसे बड़ा नियोक्ता
आठ देश के 40 प्रतिभागी  करेंगे 10 दिवसीय गुजरात यात्रा
रमाकांत चौधरी 
नई दिल्ली । भारत को जानो कार्यक्रम (केआईपी) के प्रतिभागियों ने 9 जनवरी 2019 को नई दिल्ली में केद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी से मुलाकात की थी।जिसके तहत भारत जानो कार्यक्रम का 51 वां संस्करण गुजरात के साथ साझेदारी में 5 जनवरी से 29 जनवरी 2019 तक निर्धारित किया गया है।जिसके तहत 10 जनवरी से 19 जनवरी 2019 यानि  दस दिवसीय गुजरात की यात्रा करेंगे।जिसमें आठ देश में फिजी, गुयाना, मॉरीशस, म्यांमार, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका, सूरीनाम और त्रिनिदाद और टोबैगो और अमेरिका के 40 प्रतिभागियों में 26 महिलाएं शामिल है।  
इस मौके पर केद्रीय मंत्री श्रीमति स्मृति जुबिन ईरानी ने केपीआई प्रतिभागियों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि कपड़ा क्षेत्र कृषि के बाद देश में दूसरा सबसे बड़ा नियोक्ता है और इस क्षेत्र में कुल कार्यबल का 70 प्रतिशत महिलाएं है।उन्होंने वस्त्र  एवं भारतीय संस्कृति और विरासत के विभिन्न पहलूओं के बारे में विस्तार से बताया।उन्होंने 7 अगस्त 2015 को प्रस्तुत किए गए इंडिया हैडलूम ब्रांड की भी चर्चा की जो कि पारंपरिक हाथ से बुने हुए कपड़ों को बढावा देने को लेकर पहले राष्ट्रीय हथकरघा दिवस समारोह के भाग के रुप में शुरु किया गया था।उन्होंने युवा लड़का और लड़कियों को हाथ से तैयार की गई वस्तुओं की समृद्व विविधता को देखने को लेकर दिल्ली हाट जाने की सलाह दी।उन्हेंने भारत को जानने को लेकर प्रतिभागियों को देश के विभिन्न हिस्सों में जाने की सलाह भी दी। 
उल्लेखनीय है कि भारत को जानो कार्यक्रम (केआईपी) भारत के राज्यों के साथ साझेदारी में विदेश मंत्रालय की तरफ से आयोजित किया जाने वाला 26 दिवसीय ओरिएंटेड कार्यक्रम है।यह 18 से लेकर 30 वर्ष आयु वर्ग में प्रवासी भारतीय छात्रों और युवा पेशेवरों को उनको मातृभूमि से जोड़ने को लेकर भारत सरकार की एक पहल है।इसका मुख्य उद्देश्य युवा मस्तिष्क को प्रेरित करना और उन्हें भारत की कला,विरात और संस्कृति के विभिन्न पहलूओं से अवगत कराना और देश के जीवन में विभिन्न पहलूओं और विभिन्न क्षेत्रों में भारत की प्रगति के बारे में जागरुकता को बढाना है।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer