अंतरराष्ट्रीय वायदा बाजारों के असर से सोया और पामतेल में तेजी बरकरार

अंतरराष्ट्रीय वायदा बाजारों के असर से सोया और पामतेल में तेजी बरकरार
हमारे संवाददाता
गत् हप्ते इंदौर सोयातेल 765 रु. तक बिक गया वही पामतेल भी तेजी में 658 रु. तक हो गया । उधर सोया प्लांटों के पास सोयाबीन की कमी होना बताई जा रही है । प्लांटों की खरीदी भाव 3500 रु. पार कर गये बताए जा रहे है । व्यापारिक क्षेत्रों से मिली खबरों के अनुसार सोया -पाम तेल में आगे भी तेजी जारी रह सकती है । अंतर्राष्ट्रीय टेड वार में हाल-फिलहाल संकुचन आई बताई होने से तेल भाव विगत् 744-746 रु. गत् हप्ते  से उठकर 762-765 रु. गुरुवार तक होना बताए जा रहे थे । पिछले एक माह में सोया और पामतेल भाव कोई 8 प्रतिशत तक उछले है। अतंर्राष्ट्रीय वायदा बाजार मलेशियन केएलसीई 2190 रिंगिट पार कर चुकी है वही शिकागो सोयातेल 14 सेंट की तेजी मे होना बताया जा रहा थ। ।   विभिन्न प्लांटों का भाव 752-762 रु. तक रहा । पामतेल की उपयोगिता बायोडीजल में अधिक बढने की संभावना से उसमें तेजी आने की आशा व्यक्त की जा रही है । गत् हप्ते ऊंची रही केएलसीई से पामतेल की भी तेजी रही है ।  इंदौर की थोक मंडियों में सोयाबीन की आवक कोई 3000 बोरी शुरू  हो चुकी है ।  मिली खबरों के अनुसार हालांकि किसानो सरकार के तय एमएसपी 3939 रु. के भाव नहीं मिल रहे है । वर्तमान में सोयाबीन कृषि थोक मंडियों में 2750-3475 रु. के भाव क्वालिटी अनुसार है। जानकारों के अनुसार कूड की गिरती कीमें सम्हल जाने से निर्मित परिस्थितियों ने भाव तेल और तिलहन पर तेजी को सहायक रहे है। हाल-फिलहाल चीन की आपूर्ति कई जगहों से हो रही है इससे क्रूड सम्हल गया और तिलहन तेलों में तेजी बनने लगी है । देश में इस वर्ष मूंगफली की भी पैदावार अच्छी होने और मूंगफली तेल की खपत सोया और पाम तेल की बनिस्बत कम होने से भाव को अधिक तेजी नहीं मिल पा रही है बताया जा रहा है  । भाव विगत हप्ते के मुकाबले 970 रु. तक इंदौर तेल का होना बताया जा रहा था । सरसों और तेल स्थिर रहे । हालांकि ठंड की खपत में अधिक है । गत् वर्ष सरसों का उत्पादन अच्छा रहा होने और इस वर्ष भी अनुकूलता रहने से सरसों की फसल में कमी नहीं आने की कृषि जगत् की धारणा है । सरसों तेल में हालांकि कुछ भाव बढ़कर 850 रु. तक होना बताया जा रहा था । सरसो की बिकवाली सरकार अपने स्टॉक से कर सकती है । इंदार सरसें तिहन का भाव 4300-4400 रु. तक था । हालांकि किसानी मंडी का भाव 3900 से 4200 रु. तक होना बताया गया है । बहरहाल इंदौर में गत् हप्ते इंदौर मूंगफली तेल 960 से 980 रु., मुंबई मूंगफली तेल 970-975 रु., गुजरात लूज 940-950 रु. और राजकोट तेलिया 1520-1530  रु. के भाव रहे । इंदौर सोया रिफाइंड 763 से 765   रु., इंदौर साल्वेंट 725 से 730 रु., मुंबई सोया रिफाइंड  755-758 रु., मुंबई पाम 590 से 605 रु. के भाव रहे। इंदौर पाम 658 रु. इंदौर कपास्या तेल 675 रु., इंदौर सरसों तेल 850 रू का भाव रहा ।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer