बिना गारंटी के किसान ले सकेंगे ƒ 1.60 लाख तक का कर्ज

बिना गारंटी के किसान ले सकेंगे ƒ 1.60 लाख तक का कर्ज
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । रिजर्व बøक ऑफ इंडिया (आरबीआई) की तरफ से किसानों को बिना गारंटी मिलने वाले कर्ज की अधिकतम सीमा एक लाख रुपए से बढाकर एक लाख साठ हजार रुपए करने का फैसला किया है।
इस बाबत आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की 7 फरवरी 2019 को समाप्त तीन दिवसीय छठी द्विमासिक बैठक के बाद विकास एवं नियामक नीतियों पर जारी बयान में यह बात कही गई है।जिसमें कहा गया है कि एक लाख रुपए तक बिना गारंटी के कृषि कर्ज की सीमा वर्ष 2010 में निर्धारित की गई थी।इस अवधि में बढती महंगाई और कृषि  लागत बढने के मद्देनजर इस सीमा को बढाकर एक लाख साठ हजार रुपए करने का फैसला किया गया है।जिसको लेकर आरबीआई की तरफ से कहा गया है कि वह शीघ्र ही इस मामले में एक सकुर्लर जारी करेगा।जिससे औपचारिक पूर्ण कर्ज प्रणाली में छोटे सीमांत किसानों की भागीदारी बढेगी।हालांकि आरबीआई की तरफ से पिछले वर्ष़ों में कृषि कर्ज उठाव अच्छा रहा है बहरहाल इसके बावजूद इसको लेकर कुछ समस्याएं है।ऐसे में क्षेत्रीय असमानता तथा इसका दायरा है।इन समस्याओं के अघ्ययन तथा समाधान और इनसे संबंधित नीतिगत सुझावों को लेकर आरबीआई की भीतर एक कार्य समूह का गठन किया गया है।
 

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer