प्याज के भाव में भारी तेजी, चावल की एक्सपोर्ट प्राइस भी बढ़ी

मुंबई। एग्री कमोडिटी में चना में जोरदार उछाल देखने को मिल रहा है। कॐ।़अच् पर चने में आज 2 फीसदी की मजबूती देखने को मिल रही है। तंग सप्लाई और भारी डिमांड का असर चने की कीमतों पर देखने को मिल रहा है। त्योहारी मांग से चना को सपोर्ट मिल रहा है। खरीफ की दलहन फसलों को नुकसान होने से भी चने को सपोर्ट मिल रहा है। सरकार गरीबों को बांट रही मुफ्त चना बांट रही है। कAइअ।़ के चना स्टॉक में कमी से इसकी कीमतों को सहारा मिल रहा है। 1 महीने में चना में 17 फीसदी से ज्यादा की बढ़त देखने को मिली है। चना समेत दूसरे दालों की भी डिमांड बढ़ी है। मूंग के भाव में 25 फीसदी से ज्यादा का इजाफा हुआ है। खरीफ की दलहन फसलों को नुकसान होने ले दालों में तेजी देखने को मिल रही है। 
बारिश के कारण स्टॉक की गई फसल खराब होने से प्याज की कीमतों में तेजी देखने को मिल रही है। देश की सबसे बड़ी प्याज मंडी लासलगांव में भाव अगस्त के मध्य में 900 रुपए थे जो अब बढ़कर 2700 रुपए क्विटंल हो गए हैं। भारी बारिश के कारण रबी सीजन की करीब 40 फीसदी प्याज खराब हो गई है जिससे कीमतों में तेजी बनी है। आमतौर पर 20 फीसदी स्टॉक खराब होता है। नासिक के आसपास के इलाके में स्टॉक खराब हुआ है। 3 हफ्ते में प्याज के दाम तिगुने हुए हैं। 
चावल की एक्सपोर्ट प्राइस में इजाफा देखने को मिल रहा है। देश के सबसे बड़े एक्सपोर्ट हब में दाम 18 महीने के ऊपरी स्तर पर पहुंच गए हैं। सप्लाई में दिक्कत और विदेशी बाजारों की डिमांड अच्छी होने से एक्सपोर्ट कीमतों में इजाफा देखने को मिला है। 

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer