पिछले वित्त वर्ष में 8% से अधिक की बिजली उत्पादन : सौर ऊर्जा पर फोकस

एनटीपीसी का शानदार प्रदर्शन
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) ने वित्त वर्ष 2020-21 में अपनी अब तक की सबसे अधिक 314 बिलियन यूनिट बिजली का उत्पादन दर्ज किया जो कि पिछले वित्त वर्ष 2019-20 की तुलना में 8.2 प्रतिशत की वृद्वि है।वहीं स्वायत आधार पर एनटीपीसी इकाइयों ने वित्त वर्ष 2020-21 में 270.9 बिलियन यूनिट बिजली उत्पन्न किया जो कि पिदले वित्त वर्ष 2019-20 में 4.3 प्रतिशत की वृद्वि है।वहीं एनटीपीसी समूह ने 1192.42 एमयू और 990.65 एमयू की अब तक की सबसे अधिक एकल दिन की बिजली उत्पन्न की।वहीं कोयला संयंत्रों ने 91.43 प्रतिशत के अवेलेलिबिटी फैक्टर के साथ 66 प्रतिशत का पीएलएफ दर्ज किया।वहीं उत्तर प्रदेश में एनपीटीसी की सबसे पुरानी और 39 वर्ष पहले डाली गई सिंगरौली यूनिट-1 और 37 वर्ष पहले शुरु की गई एनपीटीसी कोरबा यूनिट-2,छत्तीसगढ ने 100 प्रतिशत से अधिक प्लांट लोड फैक्टर (पीएलएफ) हासिल किया है।सिंगरौली और कोरबा यूनिट का शानदार प्रदर्शन,बिजली संयंत्रों और एनटीपीसी के संचालन और रखरखाव में इंजीरियरों की विशेषता का प्रमाण है।वहीं पहली बार 2020-21 में डिस्कॉम से एनटीपीसी ऊर्जा बिलों की वसूली एक लाख करोड़ रुपए हुई है और बकाए की सौ प्रतिशत प्राप्ति हुई।एनटीपीसी समूह की कुल स्थापित क्षमता वित्त वर्ष 2020-21 में 4160 मेगावाट क्षमता वृद्वि के साथ 5.96 प्रतिशत बढकर 65810 मेगावाट हो गई।स्वायत आधार पर एनटीपीसी क्षमता 4.03 प्रतिशत बढकर 52385 मेगावाट हो गई।बिजली उत्पादन के साथ एनटीपीसी ने ई-मोबिलिटी,वेस्ट टू एनर्जी जैसे विभिन्न नए व्यवसायिक क्षेत्रों में भी काम किया है और केद्र शासित प्रदेशों के बिजली वितरण के लिए नीलामी में भाग लिया है।एनटीपीसी अपने संयंत्र परिसर में सक्रिय रुप से ग्रीन हाइड्रोजन समाधान और कैप्टिव उद्योगों की खोज कर रहा है।एनटीपीसी समूह के पास 26 नवीकरणीय परियोजनाओं सहित 70 पावर स्टेशन है।समूह के पास निर्माणाधीन 18 गीगावाट क्षमता है।जिसमें 5 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाएं शामिल है।किफायती कीमतों पर पर्यावरण के अनुकूल ऊर्जा परियोजनाओं के माध्यम से बिजली की निर्बाध आपूर्ति एनटीपीसी की पहचान रही है।एनटीपीसी सुरक्षा और पर्यावरण के मुदृदों को शीर्ष पर रखते हुए उच्चतम विश्वनीयता और दक्षता हासिल करने का प्रयास करती है।जीवाश्यम से कार्बन मुक्त ऊर्जा में संक्रमण करने के साथ साथ एनटीपीसी व्यापार और बाजार में हिस्सेदारी बढाने की रणनीति पर भी चल रही है।वैश्विक स्तर पर ऊर्जा स्थान में वैश्विक बदलाव और जिम्मेदारी भरे निवेश में वृद्वि के साथ,एनटीपीसी ईएसजी पर जोर दे रहा है और पर्यावरण के स्थिरता मापदंडों में सुधार करते हुए भविष्य की वृद्वि के लिए नवीनीकरणीय ऊर्जा पर ध्यान केद्रित कर रहा है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer