रबी फसल : राष्ट्रीय सम्मेलन 18-19 सितम्बर को नई दिल्ली में

दलहनों-तिलहनों की खेती को बढ़ावा देने पर विशेष जोर
 
हमारे संवाददाता
नेशनल कांफ्रेंस ऑन एग्रीकल्चर फॉर रबी कम्पेन 18-19 सितम्बर 2018 को नेशनल एग्रीकल्चर साइंस सेन्टर, पूसा कॉम्पलेक्स, आईसीएआर, नई दिल्ली में आयोजित किए जाने है।जिसमें केद्रीय कृषि आयुक्त की तरफ से चालू खरीफ फसलों की समीक्षा की जाएगी और अगले रबी फसलों को लेकर प्रस्तावना किए जाएंगे।जिसके तहत अगले रबी फसल मौसम के तहत दलहनों एवं तिलहनों की खेती को बढावा देने को लेकर विशेष रुप से विचार विमर्श किया जाएगा।इस सम्मेलन को केद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधामोहन संबोधित करेंगे।
दरअसल अगले रबी फसल अभियान को लेकर राष्ट्रीय सम्मेलन में ई-नेशनलज एग्रीकल्चर मार्केट (ई-नाम), सोयल हेल्थ कार्ड, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) की प्रगति,माइक्रो इरिगेशन, ग्राम्स,नेशनल ईयर ऑफ मिल्ट्स एवं कृषि किसान अभियान पर विचार पूर्वक चर्चा की जाएगी।इसके साथ ही अगले रबी फसल अभियान के तहत 2018-19 में दलहनों एवं तिलहनों की खेती को बढावा देने पर विशेष रुप से विचार-विमर्श किया जाएगा।
वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में हाट के विकास को लेकर ग्राम्स-सड़क को बढावा देने तथा नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट (ई-नाम) के अमल पर विशेष रुप से चर्चा की जाएगी।वहीं किसानों से एमएसपी पर फसलों की खरीदी को लेकर विचार-विमर्श होगा। जिसको लेकर डायरेक्ट ट्रांसफर योजना (डीबीटी) पर विशेष रुप से फोकस किया जाएगा।इसके साथ किसानों की आय दोगुनी करने को लेकर मुख्य रुप से वार्ता की जाएगी।इसके साथ ही परंपरागत कृषि विकास योजना (पीकेवीवाई) में वृद्वि करने एवं पूर्वोत्तर भारत के क्षेत्रों को लेकर मिशन वैल्यू चेन डेवलपमेंट स्कीम को लेकर विस्तार से चर्चा की जाएगी।इस सम्मेलन में इनोवेशन के जरिए कृषि उद्यम विकास स्कीम (आरकेवीवाई-आरएएफटीएएआर) की प्रस्तुतीकरण होगी। जिसमें एक छोटी फिल्म भी दिखाई जाएगी।इस सम्मेलन में गुप लीडर को डिस्कशन करने का मौका दिया जाएगा।जिसमें वह अपनी तरफ से कृषि से संबंधित सुझाव दे सकेंगे। 

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer