गेहूं में तेजी का रुख

गेहूं में तेजी का रुख
हमारे संवाददाता   
गत् वर्ष गेहूं का उत्पादन भारी हुआ है  बावजूद आम उपभोक्ता को भाव से राहत नहीं है । सरकार द्वारा तय मूल्य एमएसपी से अब निम्न गेहूं भी 1850 से 1950 रु. से नीचे तो नहीं मिल रहा है । शरबती अच्छे गेहूं की मांग सदा ऊंची सोसायटी की रही है और भाव 3200 रु. से कम नहीं है । इस वर्ष सरकार की नीति दिशा कृषकों के हित में मूल्य नीति पर सजगता होने से गेहूं का भाव उंचा ही रहेगा ऐसा जनता का मानना है ।  सरकारों द्वारा खाद्यान्न से वोट बैंक तो पक्का है मगर गरीब जनता को निकम्मा करने का साधन भी बताया जा रहा है। आम उपभोक्ता को उचित मूल्य पर गेहूं ही नहीं खाद्य सामग्री की अन्य वस्तुएं भी उपलब्ध हो ऐसी नीति पर सरकार को ध्यान देकर देश में बढ़ रही अंधी महंगाई पर अंकुश लगाना चाहिये । जब ही आम उपभोक्ता के साथ गरीबों पर भी न्याय होगा । आटा मैदा मिलो की पहले ब्रेड उत्पादक कर्ताओं की कम मांग अनुसार गेहूं बिकता था क्योंकि बाजार में ब्रेड की मांग कम थी तथा सस्ती थी । किंतु  नई पौध की जनरेशन के पास गेहूं खरीदकर आटा बनवाने और रखने की फुर्सत नही होने तथा उनकी मांग  पैक बने आटा मटीरियल की होने से आटा मैदा मिलों को नया प्रोग्राम मिल गया होने ब्रेड के भाव दोगुने हो गये है ।  इस क्षेत्र का भरपूर कारोबार फल फूल रहा है और कई कंपनियां भी मैदान में होने से इस क्षेत्र पर महंगाई बढ़ाने की कवायद की जा रही है । लिहाजा गेहूं पर कृत्रिम तेजी जानकारों के अनुसार बढ़ती जाना है । सरकार को अभी से इस क्षेत्र पर ध्यान देना होगा । खाद्यसामग्रियों पर पोली पैक कारोबार चरम पर होने से ऐतिहासिक भावों ने आसमान छू लिया है और निम्न गेहूं पर सरकारी नीति होने से यह तो ऊंचे भाव पर है ही मगर अन्य किस्मों के गेहूं पर भाव आसमानी है। अच्छे गेहूं  को देश की जनता को 3200-3400 रु. तक का गेहूं खाने को मजबूर होना पड़ रहा है। इंदौर की मंडियों में 6-7 हजार बोरियों की फिलहाल आवकें हो रही है । पोली पैक खाद्य सामग्रियों का फलता फूलता व्यापार पर सरकारी जांच ऐजेंसियों की पैनी नजर जरूरी है । खेतो में पेस्टीसाईडस के अलावा स्टाकिस्ट भी रख-रखाव हेतु प्रिजरर्वर का उपयोग करते है इससे बीमारिया कैंसर जसे रोग ब सकत है।
गत् हप्ते इंदौर मे गेहूं लोकवन और 147 नं मीडियम 1890-2080 रु. बेस्ट 2080-2350 रु. का भाव   ,गेहूं हल्की क्वालिटी 1800-1850 रु. तथा चंदौसी का भाव 3200-3300 रौ है ।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer