सोयाबीन : बम्पर उत्पादन के आसार

सोयाबीन : बम्पर उत्पादन के आसार
वैश्विक उत्पादन बम्पर रिकार्ड स्तर पर होने का अनुमान : सोया तेल में मंदी 
हमारे संवाददाता
गत हप्ता क्रूड महंगाई, डॉलर की तेजी और रुपये का गिरना भारी चितां को लेकर व्यापारियों के बीच भी मंथन का कारण रहा है । इंदौर में पेट्रोल का भाव 87 रु. से उपर सर्वकालीन ऊंचा हो गया है । महंगाई एक तरफ शाक-सब्जियों, दलहन दालों को लेकर घटी थी तो पेट्रोल भावों से दूसरी तरफ बढ़ रही से मानस चिंता भारी बढ़ने लगी है । विश्लेषकों का मंथन है कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की पालिसी आर वैश्विक ट्रेड वार से रुपया 75 रु. तक डालर के मुकाबले गिर सकता है । आयात महंगा होने से महंगाई भी बढ़ सकती है । बढ़ते डालर भाव से पामतेल के आयात में भी कमी आई है बताया जा रहा है । वर्तमान सरकार के सामने अगले चुनावों के नजदीकी सीजन को लेकर महंगाई और वैश्विक स्थिति से दोचार होना भी भारी पड़ रहा है । बरसात को लेकर इस वर्ष म.प्र. में वर्षा की स्थिति चिंताजनक है । इंदौर में वातावरण तो हर रोज ऐसे बनता है कि आज अवश्य बरसात होगी मगर बादल है कि आंखमिचौली करते हुए प्रदेश से गायब हो जाते है और सूर्यदेव के दर्शन हो जाते है । इंदौर की औसत वर्षा 35 इंच की है और इस वर्ष कोई 26 इंच तक ही बरसात हुई है ऐसा आंकड़ों पर आ रहा है ।  हालांकि  खरीफ फसल के हिसाब से यह वर्ष अच्छा रहा है। खेतों में सोयाबीन समेत खरीफ की अन्य पैदावार अच्छी होने की पूरी संभावना है । मूंगफली का उत्पादन भी बढ़ने का अनुमान है । कृषकीय क्षेत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तिलहनों का लगभग 10-15 प्रतिशत तक अधिक उत्पादन बढ़ने का अनुमान है । मंडी क्षेत्रों के व्यापारियों से मिली जानकारी के अनुसार मंडियों में पुरानी सोयाबीन के साथ ही नई भी आना शुरू हो गई है ।
गत् हप्ते नई सोयाबीन का भाव 3750 रु. तक भी बिकना बताया गया है । अर्थात इस वर्ष एमएसपी बढ़ने से हो सकता है किसानों को सोयाबीन पर भारी भाव उपज सकते है । हालांकि प्लांटों की खरीदी गत् हप्ते 3450 रु. तक की ही हुई बताते है । तिलहन उत्पादन विश्लेषकों से मिली जानकारी के अनुसार इस वर्ष कई तिलहनों का वैश्विक उपादन भी बढ़ा है । उनके अनुसार भारत में यदि सट्टा बाजार ने अधिक उत्पात नहीं मचाया तो सोयातेल भाव अधिक बढ़ने की संभावना नहीं बन रही है । स्टाकिस्टो के अलावा बाजार के बड़े-छोटे व्यापारियों की मांग में हाल फिलहाल भारी कमी रहने से उठाव उधिक नहीं होने से सोयातेल भाव विगत् हप्ते 745 ऊंंचे भाव के मुकाबले गुरूवार तक 740 रु. तक घटना बताया गया है ।
भाव घटने का कारण ऊंचे भाव पर लेवाली का भी घटना बताया जा रहा है । सरसोतेल में भी 845 रु. तक का मंदा होना बताया गया है जबकि मूंगफली तेल में 850 रु. के मुकाबले 860 रु. तक की तेजी रही है । बहरहाल इंदौर में गत् हप्ते इंदौर मूंगफली तेल 850 से 860 रु. , मुंबई मूंगफली तेल 890 रु., गुजरात लूज 850-870   रु. और राजकोट तेलिया 1370-1380 रु. के भाव रहे । इंदौर सोया रिफाइंड 740-742 रु., इंदौर साल्वेंट 705  से 708 रु., मुंबई सोया रिफाइंड 738 से 740 रु., मुंबई पाम 680 रु. के भाव रहे । इंदौर पाम 733-735  रु. इंदौर कपास्या तेल 758 रु., इंदौर सरसों तेल 850 रु. का भाव रहा । इंदार मूंगफली तेल 870-890 रु. का भाव रहा। 

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer