सोयाबीन छह सप्ताह के उच्च स्तर पर

सोयाबीन छह सप्ताह के उच्च स्तर पर
चीन का 140 लाख टन सोयाबीन उत्पादन का लक्ष्य 
इब्राहिम पटेल 
अमेरिका, कनाडा और मेक्सिको के बीच हुए व्यापार कांट्रैक्ट के साथ ही नार्थ अमेरिकी फ्री ट्रेड एग्रीमेंट (नाफ्टा) रद्द होने से इस सप्ताह के प्रारंभ में सबसे बड़ी छूट फाइनेंशियल मार्केट और विशेष रूप से सोफ्ट कमोडिटी बाजार को हुई है। अमेरिकी शेयर बाजार नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर जबकि कनाडा और मेक्सिकन करेंसी बाजार में ऊछाल देखा गया है। शिकागो सोयाबीन नवंबर वायदा छह सप्ताह की ऊंचाई पर बुधवार को 8.70 डॉलर प्रति बुशेल (27.218 किलो) बोला गया था। भाव बढ़ने की एक अधिक वजह अमेरिकी मिडवेस्ट राज्यों में बारिश गिरने से कुछ क्षेत्रों में कटाई धीमी हो गई है या रुक गई है। नीचे भाव पर निकली मांग ने भी सोयाबीन वायदा को तीसरे दिन बढ़ने में मदद की थी।
पिछले सप्ताह अमेरिकी कृषि मंत्रालय ने पूर्व के अनुमान की तुलना में साल के अंत का स्टॉक अधिक रहने की घोषणा करने के बाद बेंचमार्क सोयाबीन वायदा 19 सितंबर को 8.10 डॉलर के नए तल पर बैठ गया था। भाव घटने की अन्य वजहों में हल्के हुए निर्यात दबाव, अमेरिका, ब्राजिल, अर्ज़ेंटीना और ब्लैक-सी के देशों में व्यापक सोयाबीन फसल का पूर्वानुमान भी जिम्मेदार था, लेकिन उसके बाद यूएसडीए ने कहा था कि 87 प्रतिशत फसल डीस-कलर्ड हो गई है। 44 प्रतिशत फसल गूड से एक्सेलंट एवं 23 प्रतिशत एकदम कमजोर स्थिति में है। 30 सितंबर तक 23 प्रतिशत अमेरिकी सोयाबीन कटाई हो चूकी थी, इस दिन की पिछले पांच साल की औसत 20 प्रतिशत थी।
इंटेल एफसिस्टोन ने 2018 की अमेरिकी सोया फसल के प्रति एकड़ ऊपज (यिल्ड) अनुमानों, पूर्व के 53.8 बुशेल से बढ़ाकर 54 बुशेल किया था। यूएसडीए ने पिछले सप्ताह अमेरिकी अनाज और सोयाबीन के अपेक्षित त्रैमासिक स्टॉक का अनुमान भी ऊंचे रखे थे। 2018-19 की ब्राजिल सोया फसल 1204 लाख टन रिकॉर्ड रखी गई है। ब्राजिल के दुसरे नंबर के सबसे बड़े सोयाबीन फसल के राज्य पारना में बुवाई इस सप्ताह तक 29 प्रतिशत पर पहुंची थी, जो पिछले साल इसी ही समय 16 प्रतिशत थी, ऐसा सरकारी सूत्रों ने मंगलवार को कहा था।
चीन इस साल 140 लाख टन सोयाबीन उत्पादन करेगा, कमी के वक्त सरकार पेराई मिलो को यह आपूर्ति सप्लाय करेगा। अमेरिकी कृषि मंत्रालय ने मई महीने में कहा था कि चीन में अमेरिकी सोयाबीन की निर्यात 623.2 लाख टन होगी, लेकिन सितंबर तक यह पूर्वानुमान घटाकर 560.6 लाख टन कर दिया था। सामान्य रूप से अमेरिकी सोयाबीन का नंबर एक आयातक देश चीन है, लेकिन हालही में भाव घटने से यूरोप ने अमेरिका से आयात में बड़ी वृद्धि की थी। सर्वांगी रूप से देखेंगे तो यदि चीन की मांग नहीं निकलेगी तो अमेरिका की सोयाबीन निर्यात में बड़ी गिरावट आएगी।
यूएसडीए ने मई महीने में चीन की कुल आयात मांग अंदाज 1030 लाख टन रखा था, लेकिन अब उन्होंने यह पूर्वानुमान घटाकर 940 लाख टन रखा है। अमेरिका से चीन की जो कुछ निकास मांग घटेगी, उसे ब्राजिल से आयात वृद्धि द्वारा ऑफसेट किया जाएगा। ट्रेड वॉर का प्रारंभ हुआ उससे पहले भी चीन, अमेरिका से नहीं लेकिन ब्राजिल से सोयाबीन की अधिक आयात करता था। मई महीने में यूएसडीए ने 2018-19 की चीन में ब्राजिल निर्यात 723 लाख टन अनुमान रखा थी, लेकिन सितंबर में यह बढ़ाकर 750 लाख टन की गई थी। अमेरिकी ग्रेन ट्रेडरों का सामान्य अभिप्राय ऐसा है कि अमेरिकी सोयाबीन पर चीन ने 25 प्रतिशत आयात शुल्क लागू करने के बावजूद अमेरिकी सोयाबीन का कुछ हिस्सा खरीदने के अलावा कोई रास्ता नहीं है, और यह शक्य भी होने वाला है।

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer