रबी फसल की बोआई हेतु किसान सुसज्ज

रबी फसल की बोआई हेतु किसान सुसज्ज
मौसम बेहद अनुकूल : अगले सप्ताह बारिश होने का अनुमान
रमाकांत चौधरी 
नई दिल्ली । देश के विभिन्न उत्पादक राज्यों में अगले रबी फसल मौसम के तहत विभिन्न फसलों की बोआई करने को लेकर किसान अभी से सुसज्य हो रहे है ।जिसको लेकर इस बार मौसम अपेक्षाकृत बेहद अनुकूल है क्योंकि पिछले माह के उतरार्द्व में मानसून की अंतिम बारिश होने से खेतों में नमी अच्छी खासी बनी हुई है।इसके साथ ही भारतीय मौसम विभाग की तरफ से भविष्यवाणी की गई है कि पश्चिम विक्षोभ के चलते अगले सप्ताह भी उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों सहित मैदानी राज्यों में बारिश होगी।जिससे किसानों को अगले रबी फसलों को लेकर खेतों में कोई सिंचाई करने की आवश्यकता नहीं होगी।वहीं केद्र सरकार की तरफ से अगले रबी फसल मौसम को लेकर विभिन्न फसलों के एमएसपी में भारी वृद्वि की गई है।जिससे निश्चित रुप से किसान विशेष रुप से उत्साहित है।जिससे अगले रबी फसलों को लेकर किसान अधिकाधिक बोआई करने को लेकर विशेष रुप से उत्सुक है।
दरअसल देश के विभिन्न उत्पादक राज्यों में अगले रबी फसल मौसम को लेकर अमूमून अक्टूबर के दूसरे पखवाड़े से विभिन्न रबी फसलों की बोआई का कार्य शुरु हो जाता है।जिसको लेकर देश के विभिन्न उत्पादक राज्यों के किसान अभी से सुसज्य हो रहे है और अगले रबी फसल मौसम को लेकर विभिन्न रबी फसलों की बोआई करने की सुगबुगाहट शुरु कर दी है और आगे के बोआई कार्य को लेकर रणीनीति बनाई जा रही है।जिसके तहत बढिया बीज व खादी की अभी से समुचित व्यवस्था करने पर ध्यान केद्रित की जा रही है।यद्यपि इस समय किसानों के समक्ष विभिन्न खरीफ फसलों की कटाई का कार्य जोरशोर से चल रहा है।ऐसे में चालू खरीफ फसलों की कटाई कार्य के निष्पादन के उपरांत किसान आगे रबी फसलों की बोआई के कार्य में जोरशोर से जुट जाएंगे।जिसको लेकर इस बार रबी फसलों की बोआई करने को लेकर मौसम बेहद अनुकूल है और इस बार किसान अगले रबी फसलों की अधिकाधिक बोआई करने को लेकर विशेष रुप से उत्सुक है।चूंकि पिछले कुछ अर्से से किसानों को खेती-बारी के मद में जुताई,बीज,खाद,सिंचाई आदि के मद में लागत काफी अधिक आती रही है।जिसके बावजूद किसानों को विभिन्न फसलों की लागत की तुलना में उचित मूल्य प्राप्त नहीं हो पा रहा था।जिसको लेकर मोदी सरकर की तरफ से एक तरफ सूखाड़, बाढ, बारिश,ओलावृष्टि आदि को लेकर फसलों की क्षतिपूर्ति को लेकर पुख्ता बंदोबख्त किया गया है।जिससे किसानों को फसल आपदा की क्षतिपूर्ति के रुप में उचित धनराशि की प्राप्ति होने लगी है।इसके साथ ही मोदी सरकार की तरफ से चालू खरीफ फसल विपणन मौसम को लेकर किसानों को फसल की लागत से डेढ गुना मूल्य दिलाने को लेकर एमएसपी में व्यापक बढोतरी कर रखी है।वहीं अगले रबी फसल विपणन मौसम को लेकर विभिन्न फसलों की लागत मूल्य से डेढ गुना मूल्य दिलाने को लेकर एमएसपी में भारी बढोतरी की गई है।जिससे स्वभाविक है कि किसानों को पूर्व वर्ष़ों की तुलना में अब फसलों के उचित मूल्य प्राप्त हो सकेगा।जिससे किसानों को फसलों को सकारात्मक रुख का आभास होने लगा है और आगे खेतीबाड़ी में दिलचस्पी लेना शुरु कर दिया है।वैसे तो इस बार अगले रबी फसल मौसम के तहत विभिन्न फसलों की बोआई से पूर्व ही पिछले महीने के उतराद्व में बारिश हुई थी।जिससे अगले रबी फसलों को लेकर मौसम अनुकूल हो रखा है।इसके साथ ही भारतीय मौसम विभाग की तरफ से भविष्यवाणी की गई है कि अगले सप्ताह 9 से 12 अक्टूबर तक देश के उत्तरी भू भाग में पहाड़ी राज्यों से लेकर मैदानी इलाकों में बारिश होगी।जिससे अगले रबी फसल मौसम की शुरुआत में बारिश होने से खेतीबाड़ी को लेकर मौसम बेहद अनुकूल हो जाएगा और खेती में नमी की मात्रा अािधिक होगी।जिससे रबी फसलों में जैसे कि गेहूं,चना,मटर,मसूर, सरसों, तोरिया,सूर्यमुखी आदि की अधिकाधिक बोआई सुनिश्चित हो सकेगी।जिसको लेकर किसान अभी से अगले रबी फसल मौसम के तहत रबी फसलों की बोआई को लेकर सुसज्य हो रही है ओर आगे अधिकाधिक रबी फसलों की बोआई का कार्य संचालित किया जाएगा।  

© 2018 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer