मोदी जैकेट की धूम मांग

डॉ. श्रीनाथ सहाय
सहारनपुर । एक समय था कि लोग `जैकेट' को नेहरू (जवाहरलाल) के नाम से जानते थे। जैकेट `नेहरू जैकेट' कहलाता था। जब भी दुकान पर जाते, कहते हमें `नेहरू जैकेट' दिखाईये। इसकी बिक्री भी होती थी। आज समय बदल गया है। आज जैकेट मोदी के नाम से जुड़कर, `मोदी जैकेट' के नाम से प्रचलित हो गया है। यह एक ऐसा आकर्षक परिधान बन गया है। जिसे पहनकर लोग अपने को गौरान्वित अनुभव करते है। गार्म़ेंट निर्माता एवं विक्रेता भी इस परिधान को बनाने और बिक्री करने में बहुत रूचि ले रहे है। आगरा, मुंबई राजमार्ग पर शिवपुरी से 55 कि.मी. और गुना 45 किB.मी. की दूरी पर स्थित है बदरवास तहसील इस तहसील ने शिवपुरी को प्रसिद्ध कर दिया है। क्योंकि यहां पर एक खास प्रकार की जैकेट प्रधानमंत्री मोदीजी के नाम से तैयार की जा रही है। यह `मोदी जैकेट' इतना प्रसिद्ध और आकर्षक बन गया है कि बदरवास के व्यापारी प्रतिमाह करीब एक करोड़ रुपये के जैकेट का कारोबार करते है। इस जैकेट के निर्माण में राजस्थान के भीलवाड़ा का खास कपड़ा इस्तेमाल किया जाता है। 

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer