क्रिप्टो करेंसी विनियमन के लिए मसौदा तैयार करने में व्यस्त सरकार

मुंबई। सकारात्मक क्रिप्टो करेंसी विनियमों भारत में स्थापित करने का आवाज बुलंद करने के उद्देश्य के साथ देश के चार शहरों हैदराबाद, दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु में क्रिप्टो करेंसी में ट्रेड करते निवेशकों का रोड शो का आयोजन किया था। इस बैठक का उद्देश्य ``क्या भारत में क्रिप्टो रेगुलेशन की आवश्यकता है?'' था। ब्लोकचेइइड इंडिया के नेतृत्व में 16 मार्च को हैदराबाद में, उसके बाद पिछले सप्ताह दिल्ली और मुंबई में और अब 30 मार्च को बेंगलुरु में इस श्रृंखला की चौथी बैठक का आयोजन होगा। पिछले सप्ताह की मुंबई बैठक में, लगभग 80 क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज के निर्माताओं और क्रिप्टो आधारित कारोबार करती कंपनियां, और लगभग 100 जितने निवेशकों, वकीलों, मार्केटर्स, रिसर्चर्स ने भाग लिया था।
मुंबई के कार्यक्रम में वाजीरेक्स क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज के सीईओ निकाल शेट्टी ने इस कार्यक्रम को संबोधित किया था। उन्होंने 31 अक्टूबर से क्रिप्टो करेंसी रेग्युलेशन के सकारात्मक पक्षों दर्शाती एक ट्वीटर हैंडल शुरु की थी। आज इस प्रचार प्रसार अभियान को 141 दिन पूरे हो गए हैं। ब्लोकचेइइúड इंडिया के सह-संस्थापक अक्षय अग्रवाल ने कहा था कि क्रिप्टो विश्व में काम कर रहे नए और अनुभवी दोनों प्रकार के भारतीय नागरिकों को हम अहोरात्रि मदद करना चाहते हैं। उन्होंने कहा था कि, भारत में आधिकारिक क्रिप्टो रेग्युलेशन के बारे में जनमत का निर्माण कर सके वैसे जानकार लोगों को बेंगलुरु सम्मेलन में अपनी आवाज को बुलंद करने के लिए हम आमंत्रित करते हैं।
अग्रवाल ने कहा था कि जो लोग इस अधिवेशन में व्यक्तिगत रूप से शामिल नहीं हो सके वे अपनी राय हमें ईमेल से भेज सकते हैं ताकि सरकार को अपनी रिपोर्ट पेश करते समय उनके सुझावों को शामिल कर सकें। हम इस संबंध में रिजर्व बैंक के साथ सहयोग करने के बजाय, हम यह रिपोर्ट सरकार के उन मंत्रियों को सौंपना चाहते हैं, जो इस बारे में निर्णय में योगदान कर सकते हैं। हमने बहुत सावधानी से कुछ मंत्रियों को चुनकर क्रिप्टो अभियान शुरू किया था, ताकि वे हमारी भावना को समझ सकें और हमारे प्रदर्शन का ऑडिटींग भी कर सकें।
भारत सरकार भी हाल में क्रिप्टो करेंसी के विनियमन के लिए मसौदा तैयार करने में व्यस्त है। 

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer