जीएसटी में पंजीकृत व्यापारियों को मिलेगा रु.10 लाख का दुर्घटना बीमा

60 वर्ष की आयु के बाद छोटे दुकानदारों को दी जाएगी पेंशन
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । भाजपा के संकल्प पत्र में छोटे दुकानदारों को पेंशन,दुर्घटना बीमा,व्यापारी कल्याण बोर्ड और व्यापारी क्रेडिट कार्ड देने की घोषणा की गई है।इसके साथ ही जीएसटी और भी सरलीकृत करने का वादा भी है।वहीं भाजपा के संकल्प पत्र में कहा गया है कि खुदरा व्यापार की बढोतरी को लेकर राष्ट्रीय ख्ìादरा व्यापार नीति बनाएगी और उनके हितों की ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय व्यापारी कल्याण बोर्ड का गठन किया जाएगा।इसके साथ ही व्यापारियों को लेकर व्यापारी क्रेडिट कार्ड बनाने की योजना बनाई जाएगी।
दरअसल देश भर के व्यापारी हमेशा से भाजपा के समर्थक के रुप में पहचाने जाते है।बहरहाल देश भर के व्यापारियों की शिकायत रही है कि मोदी सरकार के राज में नोटबंदी और जीएसटी से भारी कठिनाई का सामना करना पड़ा है।जिसके बावजूद देश भर के अधिकांशत : व्यापारीवर्ग अभी भी भाजपा के साथ जुड़े हुए है।ऐसे में भाजपा के संकल्प पत्र में इन व्यापारियों को संतुष्ठ करने को लेकर कुछ ठोस कदम का वादा किया गया है।जिसके तहत पहली बार छोटे दुकानदारों को पेंशन का कवर देने की बात कही गई है।बहरहाल यह स्पष्ट नहीं है कि उन्हें कितना पेंशन दिया जाएगा और उसकी प्रक्रिया क्या होगी।ऐसे में यह सब अब नई सरकार के गठन पर छोड़ दिया गया है।बहरहाल 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन छोटे दुकानदारों को लेकर भारी राहत हो सकती है।
हालांकि भाजपा के संकल्प पत्र में कहा गया है कि जीएसटी की परेशानी से व्यापारियों को निजात दिलाने को लेकर पहले भी कई कदम उठाए जा चुके है और अब इन व्यापारियों को दुर्घटना बीमा का लाभ देकर नई सौगात देने की घोषणा की गई है।जिसके तहत जीएसटी में पंजीकृत सभी व्यापारियां को 10 लाख रुपए तक दुर्घटना बीमा मिलेगा।वहीं राष्ट्रीय व्यापारी कल्याण बोर्ड के गठन और नई व्यापार नीति बनाने का वादा किया गया है।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer