कार उत्पादकों के लिए मार्च रहा कमजोर

कार उत्पादकों के लिए मार्च रहा कमजोर
मारुति के स्थानीय विक्री, निर्यात में कमी : टाटा कार की 12 प्र.श. कम विक्री 
मुंबई। पैसेंजर कार के अधिकांश उत्पादकों की विक्री मार्च महीने में घटी। होन्डा, टोयेटा और महिद्रा एंड महिद्रा ये तीन कंपनियां ही इसमें अपवाद रूप रही।
देश की सबसे बड़ी कार उत्पादक कंपनी मारुति सुजुकी ने 2018-19 में अपना 50.5 प्र.श. बाजार हिस्सा बरकरार रखा लेकिन मार्च में स्थानीय विक्री और निर्यात में 1.6 प्र.श. की विक्री दर्ज हुई।
मार्च 2018 में स्थानीय विक्री 1,47,170 कार की थी। जो घटकर गत महीने 1,45,031 हो गयी। निरंतर 9 महीने से मारुति कार की विक्री स्थिर रही है। हालांकि पूरे वित्तीय वर्ष का आंकड़ा बताता है कि उसकी बिक्री में 4.7 प्र.श. की वृद्धि हुई है।
हुंडाई मोटर्स कार की विक्री गत महीने 8 प्र.श. घटी थी। मार्च 2018 में कंपनी ने 48,009 कार बेची थी। यह आंकड़ा गत महीने घटकर 44,350 रहा। वित्तीय वर्ष 2018-19 में कंपनी की विक्री में 2.5 प्र.श. की वृद्धि देखी गयी।
टाटा मोटर्स कार की विक्री में गत महीने 12 प्र.श. की कमी देखी गयी दूसरी तरफ होन्डा कार्स इंडिया ने गत महीने कार विक्री में 27 प्र.श. की वृद्धि दर्ज की। होन्डा सीविल की नई आवृत्ति को अच्छा समर्थन मिला है।
महिद्रा एंड महिद्रा कंपनी की भी पैसेंजर कार की विक्री में मार्च में 5 प्र.श. की वृद्धि दर्ज हुई। गत वित्तीय वर्ष में कंपनी ने नई कार माराजो, आल्तूरास और एक्सयूवी 300 बाजार में पेश किया है।
टोयोटो किर्लोसकर मोटर्स की कार विक्री में मार्च में 2 प्र.श. की वृद्धि रही। हाल ही में कंपनी ने किमरी हाईब्रिड इलेक्ट्रिकल वहीकल्स बाजार में पेश किया।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer