केरल के तट से 6 जून को टकराएगा मानसून

हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । इस वर्ष मानसून अपने निर्धारित समय से पांच दिन बाद भारत पहुंचेगा।जिसको लेकर भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) की तरफ से 15 मई 2019 को जानकारी दी गई है कि मानसून अपने आगमन की सामान्य तिथि के पांच दिन बाद यानि 6 जून को केरल में दस्तक देगा।
दरअसल इससे पहले 14 मई 2019 को भारतीय मौसम का आकलन करने वाली निजी एजेंसी स्काइमेट वेदर ने कहा था कि इस वर्ष केरल के तट पर मानसून 4 जून को टकराएगा।उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष 2018 में 29 मई को मानसून केरल के तट पहुंच गया था वहीं 2017 में यह 30 मई को केरल के तट पर टकराया था।वहीं भारतीय मौसम विभाग की तरफ से   कहा गया है कि पिछले 14 वर्ष़ों के तहत  मानसून के पहुंचने की उसकी भविष्यवाणी 13 बार सही निकली है।वहीं सिर्फ एक बार भविष्यवाणी गलत निकली है।जिसके तहत 2015 में भारतीय मौसम विभाग की तरफ से 30 मई को मानसून केरल के तट पर पहुंचने का अनुमान लगाया था जबकि मानसून 5 जून को पहुंचा था।ऐसे में इस वर्ष को लेकर भारतीय मौसम विभाग की तरफ से मानसून को लेकर पहले ही अनुमान लगाया है कि 2019 में बरसात सामान्य होगी जिसको लेकर आईएमडी की तरफ से कहा गया है कि इस वर्ष मानसून मौसम में अल नीनो कमजोर रहेगा और मानसून के मौसम बढने के साथ ही अल नीनो कमजोर होता चला जाएगा।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer