छाता के भाव में 20 प्र. श. की वृद्धि

छाता के भाव में 20 प्र. श. की वृद्धि
 चीन से आयातित पावरबøक अम्ब्रेला से मोबाइल चार्ज किया जा सकता है और लाइट- फैन का अटैचमेंट जोड़ा जा सकता है
ब्लू टूथ छाते के हøडल में संगीत सुनने की व्यवस्था
 
देवचंद छेड़ा
मुंबई। भारत में इस बार छाते का भाव 20 प्र. श. ऊंचा निकला है। इसका कारण स्टील और कपड़े के घटे हुए भाव, मजदूरी की दर में यहां 10 से 15 प्र. श. की हुई वृद्धि और यूएस डालर की वृद्धि मानी जाती है। गत वर्ष अच्छी वर्षा होने से बाजार में पुराना स्टाक नहीं है। उत्पादन और आयात नार्मल होने से इस बार छाते की तंगी प्रतीत नहीं होगी। 
मुंबई में मानसून 15 जून से शुरू होने और सामान्य रहने का पूर्वानुमान है। 
माना जाता है कि छाते का भाव ऊंचा निकलने से बिक्री कुछ कम रहेगी। यद्यपि भारत से अब अफ्रीका, गल्फ, सीआईएस देशों की ओर छाते का निर्यात शुरू हुआ।
चीन में मजदूरी की दर काफी बढ़ गई है। इससे भारत अब सस्ता माना जाता है। चीन से तैयार छातों का आयात घटा है और पार्ट्स का बढ़ा है। तैयार छातों का आयात शुल्क 10 प्र. श. और जीएसटी 12 प्र. श. लगता है जबकि पार्ट्स पर आयात शुल्क 5 प्र. श. और जीएसटी 12 प्र. श. लगता है। कपड़े के पैनल के आयात पर आयात शुल्क 5 प्र. श. और यहां जीएसटी 5 प्र. श. लगती है। अच्छी गुणवत्ता के छाते का कपड़ा ताइवान से जबकि हल्का कपड़ा चीन से आयात होता है। इसका मार्केट साइज सीमित होने और सिजनल कारोबार होने से भारत में छाते का उत्पादन नहीं बढ़ता। राष्ट्रीय स्तर पर छाते के क्वालिटी ब्रांड में केरल की पोपी और जान कोलकाता से केसी पॉल और मोरिंदर दत्ता की एमडी ब्रांड तथा मुंबई के सागर सन्स का हैप्पी ब्रांड आगे है। चीन से खास छातों के आयात में हेप्पी ब्रांण आगे है। 
चीन से आयातित हैप्पी पावरबøक अम्ब्रेला ने सबसे अधिक आकर्षण जमाया है। यह हाइटेक 23 इन्टू 8 फोर फोल्ड छाता है। इसके हøडल में पावरबøक की सुविधा है जिससे मोबाइल चार्ज किया जा सकता है। इस छाता का खुदरा भाव 1140 रु. है। 
वन टच फुल क्लोज अम्ब्रेला का खुदरा भाव 640 रु. है। यह वजन में हल्का थ्री फोल्ड छाता है। ब्लू टूथ अम्ब्रेला के हøडल में संगीत सुनने की व्यवस्था है तथा कार्डलेस स्पीकर की भी सुविधा है। इसका खुदरा भाव 1365 रु. है। 
एक्सटेंशन गोल्फ अम्ब्रेला 23 इन्टू 8 का है, लेकिन खुलने पर 29 इन्टू 8 का हो जाता है। इसका खुदरा भाव 760 रु. है। लेस फैशन अम्ब्रेला फैशन का छाता है। बारिश में काम नहीं आता। 19 इन्टू 8 साइज के लेस छाता का खुदरा भाव 1490 रु. है।
चीन से यूज एण्ड थ्रो छाता का आयात होता है। भारत में सिटिजन सबसे सस्ता छाता बनाती है। इसके जेंट्स और लेडीज फोल्डिंग छातों का भाव 125 से 150 रु. है। चिल्ड्रेन अम्ब्रेला 70 से 80 रु. में बिकता है। स्टøडर्ड टू फोल्ड छातों का भाव 200 से 250 रु. और थ्री फोल्ड आटो का भाव 225 से 300 रु. है। स्पान्सा ब्रांड का छाता प्रति नग बोड्स पैकिंग में आता है और इसका खुदरा भाव 1000 रु. है। यह हाई कार्बन साटीन प्रिंट छाता है और उपहार देने में अधिक उपयोग होता है। 
अम्ब्रेला मेन्यु. एण्ड ट्रेडर्स एसो. (उम्टा) के भूपूर्व प्रमुख राजेश चोपड़ा ने छाते पर जीएसटी दर 12 से घटाकर 5 प्र. श. करने की मांग की है।  तौल-माप कानून संबंधी विवाद कोर्ट में है और इसके कारण कभी भी छाते पर खुदरा बिक्री भाव छापने का फरमान आ जाने की संभावना है। इससे यहां के अग्रणी एक-दो ब्रांडों ने अभी से हर छाते पर एमआरपी छापना शुरू कर दिया है।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer