अमेरिका-ईरान की लड़ाई से बासमती चावल के निर्यात पर संकट

अमेरिका-ईरान की लड़ाई से बासमती चावल के निर्यात पर संकट
निर्यातकों की भुगतान हेतु बढ़ी मुश्किलें 
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध से घरेलू बासमती चाल निर्यातकों की मुश्किलें बढ गई है।जिसको लेकर बासमती चावल के निर्यातक कंपनियां केद्र सरकद्रार से मदद की आस लगाए बैठी है।जिसको लेकर भारतीय निर्यातकों की तरफ से ईरान को निर्यात किए गए बासमती चावल को लेकर भुगतान के तरीके पर केद्र सरकार से स्पष्टीकरण का आग्रह किया है।इन्हीं आशंकाओं के चलते घरेलू बाजार में बासमती धान की कीमतें घटाकर बोली जाने लगी है।
     ईरान को भारत अपने कुल बासमती चावल के निर्यात का लगभग 30 प्रतिशत भेजता है।बहरहाल हाल ही में अमेरिका ने ईरान पर कई तरह के प्रतिबंध लगा गए हø।जिससे बासमती चावल निर्यातकों को लेकर अब समझना मुश्किल हो रहा है कि ईरान से किस मुद्रा में और किस तरह भुगतान प्राप्त किया जाए।जिसको लेकर भारतीय बासमती चावल के निर्यातकों ने केद्र सरकार से कुछ दिशानिर्देश देने का आग्रह किया है।चूंकि भारतीय निर्यातकों की मुश्किलें बढने से घरेलू बासमती चावल बाजार असमंजस की स्थिति में है।जिसके चलते यहां धान के मूल्य में पांच से सात प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गई है।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer