2022 तक हासिल होगी 54.7 गीगावॉट की पवन ऊर्जा क्षमता

हमारे संवाददाता
भारत 2022 तक 54.7 गीगावॉट की पवन ऊर्जा क्षमता हासिल कर लेगा।जिसको लेकर केद्र सरकार की तरफ से इसको लेकर 60 गीगावॉट की पवन ऊर्जा क्षमता का लक्ष्य निर्धारित कर रखा है।
फिच सॉल्यूएशन्स मøक्रो रिसर्च की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत सरकार ने 2022 तक 175 गीगवॉट अक्ष्य ऊर्जा क्षमता हासिल करने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य तय किया था।जिसमें सौर ऊर्जा से 100 गीगावॉट,पवर ऊर्जा से 60 गीगावॉट,जैव ऊर्जा से 10 गीगावॉअ और छोटी जल विद्युत परियाजनाओं क माध्यम से पांच गीगावॉट के ऊर्जा उत्पादन का लक्ष्य रखा है। जिसको लेकर फि सॉल्यूएशन्स मøक्रो रिसर्च ने देश के अक्षय ऊर्जा क्षेत्र के परिदृश्य के बारे में कहा है कि हम पवन ऊर्जा क्षेत्र के 2022 के भारत के लक्ष्य को लेकर सशंकित है क्योंकि भूमि अधिग्रहण से संबंधित मुद्दे और ग्रिड से संबंधित अड़चनों के चलते इस क्षेत्र में परियोजनाओं को लागू करने में देरी होगी।ऐसे में हमारा अनुमान है कि सरकार के 60 गीगावाट के लक्ष्य की तुलना में भारत 54.7 गीगावॉट की पवन ऊर्जा क्षमता हासिल कर लेगा।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer