मक्का का भाव एकाएक क्यों बढ़ा!

इब्राहिम पटेल
मक्का का भाव एकाएक क्यों बढ़ा? कमोडिटी ब्रोकर और एनालिस्टों का कहना है कि सटोरियों ने मंदी का खड़ा सौदा कब से पकड़ कर रखा था, लेकिन बाहर निकलने का दरबाजा नहीं मिल रहा था। तेजड़ियों को इसकी जानकारी थी। इसके कारण हाल के सप्ताहों में भाव में भारी उथल-पुथल देखने को मिली। अमेरिकन बोआई में हुई समस्या के कारण संभव है कि 1 अरब बुशेल जितना मक्का कम आएगा। मानसून घटनाओं में काफी उथल-पुथल की संभावना को देखते हुए विगत सप्ताह तक आसमानी सुलतानी घटबढ़ भी देखने को मिली।
व्यापारियों का कहना है कि अमेरिका में बोआई कम हुई इतना ही नहीं, बल्कि अधिक नमी के कारण पैदावार कम होने का भी अनुमान है। अमेरिका-चीन ट्रेड वार से सोयाबीन का ही भाव नहीं घटा बल्कि मक्का भी अछूता नहीं रहा।
युक्रेन कृषि मंत्रालय के अनुसार 15 मई तक 260 लाख टन मक्का का निर्यात हुआ था और 8.69 लाख टन मक्का रवाना होने की तैयारी में है। युक्रेन से भारत के लिए भी मक्का का शिपमेंट रवाना होने का समाचार है। तीन वर्ष के बाद पहली पार भारत में निर्यात हो रहा है।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer