मोदी सरकार 100 दिन की कार्य योजना तैयार

मोदी सरकार 100 दिन की कार्य योजना तैयार
अर्थव्यवस्था को गति देने की होगी पहली प्राथमिकता
रमाकांत चौधरी 
नई दिल्ली । प्रधानमंत्री श्री नरेद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा व सहयोगी दलों ने प्रचंड ऐतिहासिक जीत दर्ज की है।जिससे अब मोदी सरकार के समक्ष चुनौतियां काफी बढ गई है।ऐसे में मोदी सरकार के विभिन्न मंत्रालयों की तरफ से 100 दिनों का कार्य योजना तैयार कर लिया गया है।जिसके तहत देश की अर्थव्यवस्था को गति देने की पहली प्राथमिकता होगी।वहीं देश के किसानों की माली हालात सुधारने सहित युवाओं को रोजगार के बेहतर अवसर सृजित करने पर जोर होंगे।
दरअसल वित्तीय वर्ष 2018-19 में देश की अर्थव्यवस्था की वृद्वि दर घटकर 6.6 प्रतिशत पर रह गई है।जिससे मोदी सरकार के समक्ष आर्थिक मोर्चे पर चुनौतियां बढ रखी है।ऐसे में मोदी सरकार की तरफ से देश की अर्थव्यवस्था को बढावा देने को लेकर पहली प्राथमिकता होगी।जिसको लेकर मोदी सरकार के विभिन्न मंत्रालयों की तरफ तरफ से 100 दिनों का कार्य योजना तैयार कर लिया गया है।जिसके तहत केद्रीय मंत्रालय की तरफ से 100 दिन के एजेंडा में घरेलू बाजार में उपभोक्ता मांग बढाने पर विशेष फोकस होगा।जिसको लेकर भारी तादाद में निवेश बढाने पर जोर दिया जाएगा।वहीं केद्रीय वित्त मंत्रालय की तरफ से आयकर की दरों में बदलाव एवं जीएसटी के नियमों को आसान करने पर विशेष फोकस होगा।वहीं चालू वित्त वर्ष को लेकर अंतिम बजट में की गई घोषणा के तहत आयकर के संदर्भ कर स्लैब या कर दर में बदलाव पर फैसला संभवत: जुलाई में 2019-20 के अंतिम बजट में किया जाएगा।वहीं केद्रीय स्वास्थ्य और फार्मा मंत्रालय की तरफ से भी 1200 दिनों के कार्य योजना तैयार कर लिया गया है।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer